शिक्षा व शिक्षकों के मुद्दे पर आंदोलन को कसी कमर


लखनऊ। माध्यमिक शिक्षक संघ (ठकुराई गुट) के अध्यक्ष जगदीश पांडेय के साथ मिलकर कई शिक्षक संगठनों के नेताओं ने शिक्षा व शिक्षकों के मुद्दे पर एकजुट होकर आंदोलन चलाने का फैसला किया है। संघर्ष के लिए शिक्षक एकता समिति का गठन कर सरकार पर निजीकरण के जरिये शिक्षा, शिक्षकों, छात्रों के भविष्य से खिलवाड़ करने और शैक्षिक जगत की गरिमा गिराने का आरोप लगाते हुए एक साथ मिलकर संघर्ष करने का संकल्प लिया। उन्होंने यह बातें रविवार को पत्रकार वार्ता में कहीं।




उन्होंने बताया कि सभी ने सर्वसम्मति से उन्हें एकता समिति का संरक्षक नियुक्त किया है। पश्चिमी उत्तर प्रदेश के शिक्षक नेता डॉ. उमेश त्यागी को संयोजक, ठकुराई गुट के महामंत्री लालमणि द्विवेदी, माध्यमिक शिक्षक संघ (सेवारत) के वाराणसी खंड शिक्षक निर्वाचन क्षेत्र से प्रत्याशी रहे रमेश सिंह व मुरादाबाद से प्रत्याशी रहे डॉ. सुनील गिरि को सदस्य मनोनीत किया गया है। साथ ही आगामी शिक्षा सत्र में प्रयागराज में शिक्षक एकता सम्मेलन करने का फैसला किया गया है।

ये भी फैसले : पांडेय ने बताया कि सर्वसम्मति से किए गए फैसले के अनुसार, सिर्फ सेवारत शिक्षकों को ही संगठन का पदाधिकारी बनाया जाएगा। सेवानिवृत्त शिक्षक संरक्षक की भूमिका में रहेंगे विधान परिषद के लिए संगठन से सिर्फ कार्यरत शिक्षकों को ही उम्मीदवार बनाया जाएगा। ज्यादा से ज्यादा लोगों को चुनाव लड़ने का मौका देने के लिए एक व्यक्ति को सिर्फ दो चुनाव लड़ने की इजाजत होगी। व्यूरो