अब TET/CTET पास करने पर ही बन सकेंगे 9वीं से 12वीं कक्षा के शिक्षक, जानें नये बदलाव के लिए सरकार की पूरी तैयारी


नेशनल काउंसिल फॉर टीचर एजुकेशन (एनसीटीइ) ने शिक्षक पात्रता परीक्षा को अब पहली से 12वीं क्लास तक लिए अनिवार्य कर दिया है. पहली से लेकर 12वीं तक के सभी स्कूली टीचर्स के लिए अब शिक्षक पात्रता परीक्षा (टीइटी) या केंद्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा (सीटीइटी) पास होना जरूरी होगा.



गौरतलब है कि अब तक टीइटी की अनिवार्यता केवल पहली से आठवीं कक्षा तक के लिए थी. लेकिन, नौवीं से 12वीं यानी पोस्ट ग्रेजुएट टीचर्स (पीजीटी) के लिए इसकी जरूरत नहीं होती थी. लेकिन, अब इसकी जरूरत सभी को होगी. एनसीटीइ ने कहा है कि अब किसी भी क्लास में पढ़ाने के लिए (टीइटी) पास करना अनिवार्य है.

राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 को देखते हुए यह फैसला लिया गया है. इस संबंध में दिशा-निर्देश व टेस्ट पैटर्न तैयार किया जायेगा. टेस्ट पैटर्न के लिए कमेटी का भी गठन कर दिया गया है. क्वालिटी एजुकेशन को बढ़ावा देने के लिए और शिक्षकों को अपग्रेड करने के लिए यह तैयारी की गयी है.