राजकीय कॉलेज 115 शिक्षक बने प्रधानाध्यापक: हाईस्कूल में प्रधानाध्यापक व इंटर कॉलेजों के उप प्रधानाचार्य बने, एलटी ग्रेड व प्रवक्ता की पदोन्नति मामला

प्रयागराज : प्रदेश के राजकीय कॉलेजों में मुखिया पद पर शिक्षकों को तैनाती मिलना जारी है। शिक्षिकाओं के बाद अब शिक्षकों को भी तोहफा मिला है। 115 शिक्षकों को राजकीय हाईस्कूलों में प्रधानाध्यापक व राजकीय इंटर कॉलेजों में उप प्रधानाचार्य के पद पर तैनाती दी गई है। उनकी विभागीय पदोन्नति समिति (डीपीसी) पहले हुई थी और उन सभी से विकल्प मांगे गए थे। उसके बाद से पदस्थापन आदेश का इंतजार था। अपर शिक्षा निदेशक राजकीय अंजना गोयल ने आदेश जारी कर दिया है।


उत्तर प्रदेश शैक्षिक अध्यापन (अधीनस्थ राजपत्रित) सेवा नियमावली 1993 के अधीन चयन समिति की ओर से प्रवक्ता व एलटी ग्रेड (पुरुष शाखा) में कार्यरत शिक्षकों को मौलिक रूप से रिक्त पदों के सापेक्ष पदोन्नति दी गई थी। शिक्षा निदेशालय ने पदोन्नत होने वाले शिक्षकों से कालेजों का विकल्प मांगा था और उसे शिक्षा निदेशक माध्यमिक विनय कुमार पांडेय के यहां भेजा गया था। अपर शिक्षा निदेशक ने अब 115 शिक्षकों का पदस्थापन आदेश जारी कर दिया है। प्रवक्ता संवर्ग से पदोन्नति पाने वाले शिक्षकों की संख्या 17 है और 98 स्नातक शिक्षक यानी एलटी ग्रेड संवर्ग के पुरुष शिक्षकों को सभी उन जिलों के राजकीय कालेजों में तैनाती दी गई है, जहां पद रिक्त चल रहे थे। इनमें वाराणसी, कानपुर देहात, मथुरा, बांदा, शाहजहांपुर, बस्ती, लखीमपुर खीरी, मैनपुरी, इटावा, झांसी, मऊ, उन्नाव, सीतापुर, रामपुर, सहारनपुर, आगरा, जालौन, शामली, बदायूं, बहराइच, कन्नौज, मुरादाबाद, महोबा, संभल, सोनभद्र, हमीरपुर, चित्रकूट, ललितपुर, भदोही, फरुखाबाद, फिरोजाबाद, गाजीपुर, पीलीभीत, रायबरेली, गोरखपुर, मीरजापुर, फतेहपुर, अमरोहा, बिजनौर, प्रयागराज, अंबेडकर नगर, सुलतानपुर, अयोध्या, बाराबंकी आदि शामिल हैं।

अविलंब ग्रहण करें कार्यभार

अपर निदेशक का निर्देश है कि शिक्षक वर्तमान पद के प्रभार से अवमुक्त होकर पदोन्नत पद पर अविलंब कार्यभार ग्रहण करें। पदोन्नति स्वीकार न होने की दशा में अपनी असहमति की सूचना मंडलीय संयुक्त शिक्षा निदेशक के माध्यम से 15 दिन में शिक्षा निदेशालय प्रयागराज को उपलब्ध कराएं।