प्रेरक लक्ष्य पूरा करने वाले शिक्षक ओर अधिकारी किए जाएंगे सम्मानित : बेसिक शिक्षा राज्यमंत्री

लखनऊ। बेसिक शिक्षा राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) डॉ. सतीश चंद्र द्विवेदी ने कहा कि प्रेरणा ज्ञानोत्सव अभियान के तहत सबसे पहले प्रेरक विद्यालय, प्रेरक विकासखंड, प्रेरक जनपद और प्रेरक मंडल का लक्ष्य हासिल करने वाले शिक्षकों, खंड शिक्षा अधिकारियों, बेसिक शिक्षा अधिकारियों और मंडलीय सहायक निदेशकों को 5 सितंबर को शिक्षक दिवस के दिन पुरस्कृत किया जाएगा। प्रेरणा ज्ञानोत्सव के तहत बुधवार को गोसाईगंज स्थित स्कूल ऑफ मैनेजमेंट साइंसेस में आयोजित प्रेरणा ज्ञानोत्वस संगोष्ठी को संबोधित करते हुए सतीश द्विवेदी ने कहा कि कोरोना काल में कक्षा 1 से 8 तक में शिक्षण कार्य शुरू होने के बाद सभी विद्यालयों में सौ दिवसीय प्रेरणा ज्ञानोत्सव अभियान चलाया जा रहा है। इसमें अभिभावकों के साथ मिशन प्रेरणा के लक्ष्य साझा किए जाएंगे। मिशन प्रेरणा और ऑपरेशन कायाकल्प से लोगों को जोड़ने, शिक्षकों को प्रेरित करने के लिए संगोष्ठी भी आयोजित की गई है। 




उन्होंने कहा कि कोरोना काल में भी बेसिक शिक्षा परिषद के शिक्षकों ने मिड डे मील, ऑपरेशन कायाकल्प, मिशन प्रेरणा और अन्य अकादमिक गतिविधियों में अच्छा काम किया है। उन्होंने कहा कि बेसिक शिक्षा विभाग में शिक्षकों की कमी को पूरा करने के लिए एक लाख 20 हजार शिक्षकों की भर्ती की गई। सुशासन के लिए मानव संपदा पोर्टल और प्रेरणा पोर्टल लॉन्च किया गया। उन्होंने कहा कि पहली बार विद्यालयों में गणित किट, ग्रेडेड बुक्स, पुस्तकालय की सुविधा दी जा रही है। इससे पहले ऑपरेशन कायाकल्प, मिशन प्रेरणा एवं कक्षा-कक्ष रूपांतरण, लिंग संबेदीकरण, शारदा एवं समर्थ कार्यक्रम और प्रेरणा ज्ञानोत्सव का प्रस्तुतीकरण भी किया गया। कार्यक्रम में गोसाईगंज विकासखंड प्रेरक छात्र-छात्राओं एवं उनके अभिभावकों को सम्मानित किया गया। बच्चों के नामांकन में अभूतपूर्व बृद्धि करने वाले शिक्षकों और शिक्षिकाओं को भी सम्मानित किया गया।