एक क्लिक के इंतजार में अटकीं ढाई हजार शिक्षकों की नियुक्तियां

एक क्लिक के इंतजार में एलटी ग्रेड हिंदी एवं सामाजिक विज्ञान के तकरीबन ढाई हजार चयनित अभ्यर्थियों की नियुक्तियां अटकी हुईं हैं। उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग (यूपीपीएससी) को चयनित अभ्यर्थियों से संबंधित सूचना की हार्डकॉपी माध्यमिक शिक्षा निदेशालय को भेजनी है। अभ्यर्थी तीन दिनों से आयोग के चक्कर लगा रहे हैं। उन्हें रोज आश्वासन भी मिल रहा है, लेकिन सॉफ्टकॉपी आयोग ने अब तक नहीं भेजी। बृहस्पतिवार को भी आश्वासन दिया कि शुक्रवार को साफ्टकॉपी माध्यमिक शिक्षा निदेशालय को भेज दी जाएगी।


आयोग को सॉफ्टकॉपी ऑनलाइन माध्यम से भेजनी है। चयनित अभ्यर्थियों की फाइलें पहले ही आयोग ने शिक्षा निदेशालय को भेज दीं थीं। डेढ़ माह तक शिक्षा निदेशालय औपचारिकताएं पूरी करता रहा। लंबे इंतजार के बाद ऑनलाइन काउंसलिंग के लिए जब पोर्टल खुलने का वक्त आया तो शिक्षा निदेशालय की ओर से चयनित अभ्यर्थियों को बताया गया कि आयोग से सॉफ्टकॉपी नहीं मिली है। सॉफ्टकॉपी मिलने के बाद उसका मिलान कराया जाएगा और फिर ऑनलाइन काउंसलिंग के लिए पोर्टल खोल जाएगा। अभ्यर्थियों परेशान हैं, क्योंकि ऑनलाइन काउंसलिंग के बाद ही उन्हें नियुक्ति पत्र जारी किए जाएंगे।

एलटी ग्रेड हिंदी में तकरीबन नौ सौ चयनित अभ्यर्थियों और सामाजिक विज्ञान पुरुष वर्ग में 737 एवं महिला वर्ग में 797 चयनित अभ्यर्थियों को ऑनलाइन काउंसलिंग शुरू होने का इंतजार है। बृहस्पतिवार को प्रतियोगी मोर्चा अध्यक्ष विक्की खान, मोर्चा प्रतिनिधि अनिल उपाध्याय, पवन तिवारी, उदय यादव, संतोष सिंह आदि सिविल लाइंस थाने पहुंचे और उन्होंने आयोग में धरना देने की अनुमति मांगी। इस पर पुलिस अफसरों ने फोन पर छात्रों की समस्या के निराकरण के लिए आयोग के मीडिया प्रभारी पुष्कर श्रीवास्तव से फोन पर बात की। इसके बाद प्रतियोगी छात्र आयोग पहुंचे तो मीडिया प्रभारी ने उन्हें आश्वासन दिया कि शुक्रवार को सॉफ्टकॉपी शिक्षा निदेशालय को प्रेषित कर दी जाएगी। अभ्यर्थियों ने कहा कि अगर शुक्रवार को सॉफ्टकॉपी नहीं भेजी गई तो आयोग में धरना-प्रदर्शन करेंगे।