स्कूलों में सरप्लस शिक्षकों के तबादले की तैयारी, शासन के निर्देश पर बेसिक शिक्षा परिषद की ओर से तैयार हो रही शिक्षकों की सूची


प्रयागराज। परिषदीय स्कूलों में अंतरजनपदीय स्थानांतरण के बाद अब शहर के आसपास के स्कूलों में वर्षों से जमे शिक्षकों के स्थानांतरण की तैयारी है। बेसिक शिक्षा परिषद की ओर से ऐसे शिक्षकों की सूची तैयार की जा रही है। शहर से लगे ग्रामीण क्षेत्र के विद्यालयों में कुछ प्रभावी शिक्षक तैनात मिल जाएंगे। इन विद्यालयों में बच्चों की संख्या भले ही अंगुली पर गिनने लायक हो, परंतु शिक्षकों की संख्या दर्जन भर से अधिक है। सरकार की ओर से परिषदीय प्राथमिक विद्यालयों में 72 हजार से अधिक ऐसे शिक्षकों को चिह्नित किया है, जो आवश्यकता के अनुसार सरप्लस हैं।



इन शिक्षकों को चिह्नित करने में सरकार की ओर से मानव संपदा पोर्टल, प्रेरणा पोर्टल पर शिक्षकों एवं बच्चों का ऑनलाइन डाटा मददगार हो रहा है। शासन ने शिक्षकों से लेकर विद्यालयों तक की व्यवस्था आनलाइन कर दी है। अब शासन के पास पूरी सूचना है कि किस विद्यालय में कितने विद्यार्थियों पर कितने शिक्षक काम कर रहे हैं। इसलिए इस व्यवस्था के मददगार साबित होने की उम्मीद है। जहां-जहां शिक्षक सरप्लस हैं जरूरत से अधिक है। उन्हें वहां से हटाकर जरूरत वाले विद्यालयों में भेजा जाएगा। सरकार शिक्षा के अधिकार कानून (आरटीई) के अनुसार विद्यालयों में मानक के अनुरूप शिक्षकों की तैनाती के लिए बेसिक शिक्षा विभाग सरप्लस शिक्षकों जरूरत वाले विद्यालयों में भेजने की तैयारी कर रहा है। विभाग अंतरजनपदीय व पारस्परिक स्थानांतरण के बाद विद्यालयों में स्थानांतरण व समायोजन के माध्यम से मानकों के अनुरूप शिक्षकों की तैनाती करने लगा है।