बेहतर शोध करने के लिए पांच शिक्षकों को मिले 14.20 लाख

 प्रयागराज : शोध और नवाचार को बढ़ावा देने के लिए उच्च शिक्षा विभाग ने रिसर्च एंड डेवलपमेंट स्कीम के तहत राविवि के पांच शिक्षकों और मुक्त विवि की शिक्षिका को 14 लाख 20 हजार रुपये दिए हैं। उच्च शिक्षा विभाग के विशेष सचिव योगेंद्र दत्त त्रिपाठी की ओर से इसके आदेश जारी कर दिए गए हैं।


मुक्त विवि के कुलपति प्रोफेसर केएन सिंह ने बताया कि जनवरी में उनके पास दोनों विश्वविद्यालयों का प्रभार था। उन्होंने राज्य विवि से छह शिक्षकों से आवेदन कराए थे। सभी को शोध के लिए धनराशि स्वीकृत की गई। इनमें कॉमर्स विभाग की प्रोफेसर अर्चना पांडेय को 2.09 लाख, समाजकार्य विभाग की डा. गीतांजलि श्रीवास्तव को 1.20 लाख, प्राचीन इतिहास विभाग के डा. जितेंद्र सिंह नौलखा को 2.10 लाख, हंिदूी विभाग की डा. अल्का मिश्र को 2.04 लाख रुपये की फंड मिला है। जनसंपर्क अधिकारी डा. अविनाश कुमार श्रीवास्तव का कहना है कि मुविवि में सांख्यिकी विभाग की डा. श्रुति को 2.64 लाख के प्रोजेक्ट को हरी झंडी दी गई है। समाजकार्य विभाग के प्रोफेसर विवेक कुमार सिंह को 2.09 लाख और 2.04 लाख के दो प्रोजेक्ट को मंजूरी मिली है।

शिक्षकों को दिया गया हैस्कीम के तहत मेजर (वृहद) व माइनर (लघु) रिसर्च के लिए फंड, जारी कर दिया गया आदेश