चुनाव व भर्ती परीक्षा के बीच फंसे हजारों शिक्षक, एडेड जूनियर हाईस्कूल के 1894 पदों पर भर्ती का मामला


प्रदेश के 3049 अशासकीय सहायता प्राप्त जूनियर हाईस्कूलों में प्रधानाध्यापक के 390 और सहायक अध्यापकों के 1504 पदों पर भर्ती के लिए 18 अप्रैल को प्रस्तावित लिखित परीक्षा को लेकर हजारों शिक्षक परेशान हैं। इस भर्ती के लिए आवेदन करने वाले हजारों शिक्षकों एवं अन्य विभागों के कर्मचारियों ने परीक्षा तिथि में संशोधन की मांग की है।


समस्या यह है कि इन शिक्षकों की ड्यूटी चुनाव में भी लगाई गई है। 19 अप्रैल को 16 जिलों में मतदान होना है जिसके लिए पोलिंग पार्टियों के साथ 18 अप्रैल को आवेदन करने वाले शिक्षकों व सरकारी कर्मचारियों को भी रवाना होना है। इस स्थिति में हजारों आवेदक परेशान हैं कि पेपर दें या चुनाव ड्यूटी करें। शिक्षकों और प्रतियोगी छात्रों का कहना है कि जिन जिलों में चुनाव है वहां के शिक्षकों को परीक्षा से वंचित होना पड़ सकता है। 68500 भर्ती में चयनित एवं एडेड जूनियर भर्ती के लिए आवेदन करने वाले शिक्षक संजीव त्रिपाठी का कहना है कि इस विकट परिस्थिति में परीक्षा नियामक प्राधिकारी को सभी आवेदकों के हित में उचित फैसला लेना चाहिए।

अब आवेदन करने वाले संजीव त्रिपाठी, संजीव कुमार मिश्र, अभिषेक त्रिपाठी, बालाजी तिवारी आदि शिक्षक ट्विटर और मेल के जरिए परीक्षा तिथि में संशोधन की मांग उठा रहे हैं । हालांकि सचिव परीक्षा नियामक प्राधिकारी अनिल भूषण त्रिपाठी का कहना है कि परीक्षा तिथि में संशोधन के संबंध में कोई प्रार्थनापत्र उन्हें नहीं मिला है। गौरतलब है कि इस भर्ती के लिए 3.25 लाख से अधिक अभ्यर्थियों ने आवेदन किया है।