मृत शिक्षकों के परिजनों को मिले 50 लाख की सहायता राशि



प्रतापगढ़। माध्यमिक शिक्षक संघ ने शिक्षकों की समस्याओं को लेकर बुधवार को आवाज बुलंद की। माध्यमिक शिक्षक संघ के जिलाध्यक्ष त्रिलोचन सिंह ने शिक्षकों की समस्याओं से अवगत कराते हुए चुनाव में शिक्षकों की ड्यूटी लगाए जाने पर सवाल खड़े किए। उन्होंने कहा कि चुनाव ड्यूटी के नाम पर शिक्षकों का शोषण किया जा रहा है। किसी परिस्थित वश यदि कोई शिक्षक ड्यूटी पर नहीं पहुंच पा रहा है तो उसका वेतन रोका जा रहा है और उस पर मुकदमा दर्ज करने की तक की कार्रवाई की जा रही है। उन्होंने कहा कि चुनाव ड्यूटी के नाम पर शिक्षकों का शोषण बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। उन्होंने कहा कि निर्वाचन प्रक्रिया के प्रारंभ से लेकर 10 दिन बाद तक यदि किसी शिक्षक की मौत होती है तो उसके परिजनों को 50 लाख की सहायता धनराशि व अनुकंपा के तौर पर एक आश्रित को नौकरी दी जाए।

2004 में जो भी शिक्षक नियुक्त हैं, उनकी सेवा विनियमित मानकर उनके आश्रित को पेंशन दी जाए। इस अवसर पर मंत्री प्रभात पांडेय, रामचंद्र मिश्रा, राजेंद्र बहादुर सिंह आदि मौजूद रहे ।