यूटा ने शासन स्तर पर उठाया नवनियुक्त 69000 शिक्षकों के वेतन का प्रकरण



लखनऊ। यूनाइटेड टीचर्स एसोसिएशन (यूटा) ने 69 हजार सहायक अध्यापक भर्ती में नवनियुक्त शिक्षकों के दस्तावेजों का जल्द सत्यापन कराकर वेतन भुगतान शुरू करने की मांग की है। एसोसिएशन के प्रदेश अध्यक्ष राजेंद्र सिंह राठौर ने बेसिक शिक्षा राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) डॉ. सतीश चंद्र द्विवेदी और मुख्य सचिव राजेंद्र कुमार तिवारी को इस संबंध में पत्र लिखा है।

राठौर ने बताया कि शासन ने नवनियुक्त शिक्षकों के शैक्षिक दस्तावेजों, जाति प्रमाण पत्रों का सत्यापन होने के बाद ही वेतन जारी करने की शर्त रखी है। लेकिन करीब नियुक्ति के चार से छह महीने बाद भी सत्यापन की कार्यवाही पूरी नहीं होने से शिक्षकों को वेतन नहीं मिल रहा है। उन्होंने आरोप लगाया कि अधिकारी दस्तावेज सत्यापन के नाम पर हीलाहवाली कर रहे है। वेतन नहीं मिलने से शिक्षकों कोआर्थिक तंगी का सामाना करना पड़ रहा है।