शिक्षक भर्ती घोटाले के आरोपी की 72 लाख रुपये की संपत्ति कुर्क

मथुरा। शिक्षक भर्ती घोटाले के आरोपी के 72 लाख रुपये की संपत्ति मुनादी कराकर कुर्क की गई। इसमें एक मकान और दो प्लॉट शामिल हैं। यह कार्रवाई बुधवार को पुलिस-प्रशासन की टीम ने की तो खलबली मच गई। टीम के पहुंचने से पहले आरोपी भाग खड़ा हुआ। पुलिस-प्रशासन की टीम ने संपत्ति को सील कर दिया है।


थाना बलदेव के गांव भरतिया निवासी रविंद्र सिंह पुत्र रामवीर सिंह के खिलाफ साल 2018 में शहर कोतवाली में फर्जीवाड़े का मुकदमा दर्ज हुआ था। उस पर शिक्षक भर्ती घोटाले का आरोप लगा था। हालांकि गिरफ्तारी के बाद ही उस अगले साल 2019 में गैंगस्टर में भी कार्रवाई हुई थी। शिक्षक भर्ती घोटाले से धन अर्जित करने वाले आरोपी के खिलाफ छह अप्रैल को डीएम नवनीत सिंह चहल ने आरोपी रविंद्र सिंह की संपत्ति कुर्क करने के आदेश कर दिए। आदेश मिलते ही बुधवार को पुलिस और प्रशासन की टीम उसके वर्तमान पते एटीवी के पीछे गणेशकुंज कॉलोनी में पहुंची।

सीओ सिटी वरुण कुमार सिंह, तहसीलदार, कोतवाली प्रभारी सूरज प्रकाश शर्मा समेत पुलिस-प्रशासन ने एक मकान और दो प्लॉटों को कुर्क किया। पुलिस-प्रशासन की टीम के पहुंचने से पहले आरोपी परिवार सहित भाग खड़ा हुआ। सीओ सिटी ने बताया कि शिक्षक भर्ती घोटाले के आरोपी रविंद्र सिंह की संपत्ति मुनादी कराकर कुर्क की गई है। इनमें एक मकान और दो प्लॉट हैं। इनकी कीमत करीब 72 लाख रुपये है। यह कार्रवाई डीएम के आदेश पर की गई है।