प्रदेश में एक भी शिक्षक विहीन विद्यालय नहीं: बेसिक शिक्षा विभाग ने किया दावा, 5 हजार नियुक्तियां जल्द

लखनऊ। बेसिक शिक्षा परिषद के स्कूलों में करीब दो दशक बाद पहली बार ऐसा हुआ जब एक भी विद्यालय शिक्षक विहीन नहीं है। विभाग का दावा है कि आगामी समय में होने वाली पांच हजार नई नियुक्तियों के बाद प्रदेश में एकल विद्यालय (केवल एक शिक्षक वाले स्कूल) भी नहीं बचेंगे। प्रदेश में 1 लाख 58 हजार से अधिक परिषदीय स्कूलों में


2020 तक 13 प्रतिशत ऐसे स्कूल थे जहां एक भी शिक्षक कार्यरत नहीं थे। बहीं 40 प्रतिशत स्कूल ऐसे थे जहां पर केवल एक ही शिक्षक कार्यरत थे। 30 प्रतिशत स्कूल ऐसे थे जहां 2 शिक्षक और 3 या इससे अधिक शिक्षक वाले मात्र 17 प्रतिशत स्कूल थे। 69 हजार सहायक अध्यापक शिक्षकों की भर्ती में बीते बर्ष दो चरणों में करीब 63 हजार 900 से अधिक नवचयनित शिक्षकों को नियुक्ति दी गई। उसके बाद इस वर्ष 22 हजार शिक्षकों के अंतर्जनपदीय तबादलों में भी विभाग ने हर जिले में शिक्षक विहीन एवं एकल विद्यालय में ही नियुक्ति दी।