तेज होगा पुरानी पेंशन बहाली के लिए आंदोलन, शिक्षक संघ की सेवारत शिक्षक एकीकरण मंच की बैठक में लिया निर्णय

प्रयागराज : शिक्षक हितों की लड़ाई को पूरे दमखम के साथ आगे बढ़ाया जाएगा। पुरानी पेंशन योजना की बहाली के लिए भी संघर्ष तेज होगा। अब संगठन में युवाओं को ही पद मिलेगा। वरिष्ठों को संरक्षक मंडल में स्थान दिया जाएगा। यह फैसला सोमवार को उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षक संघ की सेवारत शिक्षक एकीकरण मंच के बैनर तले हुई बैठक में लिया गया।


केपी इंटर कॉलेज में जुटे शिक्षकों ने कहा कि ‘उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षक संघ’ की लड़ाई की बदौलत, वेतन वितरण अधिनियम, वेतन समानता, पेंशन समानता जैसे लाभ अब तक मिले। दुर्भाग्य है कि अब पेंशन, भत्ते एक एक कर बंद हो रहे हैं। सब कुछ निजीकरण की ओर बढ़ रहा है। कुलभास्कर आश्रम कृषि इंटर कॉलेज के प्रधानाचार्य डॉ. प्रमोद कुमार श्रीवास्तव ने कहा कि सात फरवरी को लखनऊ में बैठक के दौरान उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षक संघ (सेवारत) का गठन का निर्णय लिया। संगठन में सभी पद सेवारत शिक्षकों को दिए जाएंगे। प्रांतीय उपाध्यक्ष रमेश सिंह ने कहा कि अब पुरानी पेंशन बहाली की लड़ाई, शिक्षक सेवा अधिकरण विधेयक 2021 का विरोध तेज होगा। अन्य समस्याओं को भी सूचीबद्ध कर उनके समाधान की रणनीति बनाई जाएगी। बैठक में प्रांतीय मंत्री डॉ. सुनील गिरि, मुरादाबाद से सुखबीर सिंह, राकेश कुमार वर्मा, अनिल चौहान, बिजनौर के विनोद कुमार, विनेश त्यागी, राजेंद्र सोलंकी, रामपुर से सोमपाल संह, जैनपुर से सरोज सिंह, तेरस यादव, गाजीपुर से आंजनेय सिंह, वाराणसी से राणाप्रताप सिंह, चित्रकूट से मनोज कुमार पांडेय के अतिरिक्त प्रयाग के सुरेंद्र प्रताप, बृजेश खरे, राम बाबू सिंह आदि मौजूद रहे।

उप्र माध्यमिक शिक्षक संघ की सेवारत शिक्षक एकीकरण मंच की बैठक में लिया निर्णय

उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षक संघ के नवनिर्वाचित पदाघिकारी’ जागरण

रमेश सिंह बने कार्यकारी अध्यक्ष

उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षक संघ (चेतनारायण गुट) के प्रांतीय उपाध्यक्ष राकेश सिंह ने प्रस्ताव रखा कि संगठन का विस्तार किया जाए। इसका समर्थन शैलेश पांडेय ने किया। उसके बाद रमेश सिंह को कार्यकारी अध्यक्ष, डॉ. सुनी गिरि को महामंत्री, डॉ. प्रमोद कुमार श्रीवास्तव को कोषाध्यक्ष, डॉ. राकेश सिंह को प्रांतीय उपाध्यक्ष, डॉ. शैलेश पांडेय व अनिल चौहान को प्रांतीय मंत्री सर्व सम्मति से चुना गया।