सडक हादसे में स्कूटी से घर लौट रही दो प्राथमिक स्कूल की शिक्षिकाओं की मौत, एक सहायक अध्यापिका व दूसरी बहन थी शिक्षामित्र

कांट थाना क्षेत्र में बुधवार दोपहर शाहजहांपुर-जलालाबाद रोड पर स्थित रसूलापुर गांव के पास हादसा हो गया। चौपहिया वाहन ने स्कूटी को टक्कर मार दी। इस हादसे में दोनों सगी बहनों की मौत हो गई। एक बहन सरकारी स्कूल में सहायक अध्यापिका व दूसरी बहन शिक्षामित्र थी। पुलिस ने शवों को सील कर पोस्टमार्टम के लिए भेजा। दोनों बसपा के पूर्व जिलाध्यक्ष सुरेश चंद्र की बेटियां थीं।




शाहजहांपुर के मोहल्ला हुसैनपुरा निवासी बसपा के पूर्व जिलाध्यक्ष सुरेशचंद्र गौतम कांट के नौसारा सिकंदरपुर गांव के रहने वाले हैं। सुरेशचंद्र अभी हाल ही में सपा में शामिल हुए हैं। उनकी 35 वर्षीय बड़ी बेटी ममता कांट के बलीपुर गांव स्थित विद्यालय में शिक्षामित्र थी। उनकी 26 वर्षीय छोटी बेटी अंजूलता कांट के भैंसटाकलां स्थित विद्यालय में सहायक अध्यापिका थी। दोनों बहने एक साथ स्कूटी से स्कूल आती-जाती थीं।

बुधवार सुबह भी दोनों बहनें अपने-अपने स्कूल गईं। छुट्टी के बाद जैसे ही दोनों बहनें शाहजहांपुर-जलालाबाद रोड पर स्थित रसूलापुर गांव के पास स्कूटी से पहुंची, तभी सामने से तेज रफ्तार आए चौपहिया वाहन ने स्कूटी को टक्कर मार दी। इस हादसे में दोनों बहनों की मौत हो गई। रोड पर जाम जैसी स्थिति बन गई। पुलिस ने मौके पर पहुंच दोनों बहनों के शवों को वहां से हटवाकर जिला अस्पताल मॉरचरी में रखवा दिया। परिजनों के पहुंचने के बाद पंचनामा भर शवों को पीएम भेजा। शवों को देख उनके परिजन रोते-रोते बेहोश हो गए।