मतगणना स्थगित करने की कर्मचारी संगठनों ने की मांग



लखनऊ। त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में ड्यूटी करने वाले शिक्षकों, कर्मचारियों और अधिकारियों की कोरोना से हुई मौत को देखते हुए कर्मचारी संगठनों ने मतगणना स्थगित करने की मांग की है। शिक्षक और कर्मचारी संगठनों का कहना है कि ऐसे में इसे टालना चाहिए।
मतगणना में संक्रमण की आशंका ज्यादा हैं।


खंड शिक्षा अधिकारी संघ के महासचिव वीरेंद्र कुमार कनौजिया ने राज्य निर्वाचन आयोग को पत्र लिखा है कि मतगणना में कोविड-19 के प्रोटोकॉल का पालन करना संभव नहीं होगा। इसके पहले चुनाव ड्यूटी में ही कई खंड शिक्षा अधिकारी संक्रमित हुए और कुछ की मौत भी हो गई है। ऐसे में मतगणना तत्काल स्थगित कर दी जानी चाहिए। उन्होंने मृत खंड शिक्षा अधिकारियों के परिवारीजनों को 50-50 लाख रुपये का मुआवजा और मृतक आश्रित को नौकरी देने की मांग की। प्राथमिक शिक्षक प्रशिक्षित स्नातक एसोसिएशन के अध्यक्ष विनय सिंह व राजकीय कर्मचारी संघ के अध्यक्ष अजय सिंह ने भी बमतगणना टालने की मांग की है। राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद के अध्यक्ष हरिकिशोर तिवारी ने कहा कि पूरे चुनाव भर सरकार से मांग की जाती रही कि वे कर्मचारियों को समुचित किट उपलब्ध करवाकर ड्यूटी करवाएं। लेकिन सरकार ने नहीं सुना। लिहाजा मतगणना टाल देनी चाहिए। ग्राम पंचायतीराज सफाई कर्मचारी संगठन समेत कई अन्य संगठनों ने भी मतगणना टालने की मांग की है।