भांजे की शादी है, चुनाव से ड्यूटी हटवा दीजिए:- सरकारी कर्मचारी अजब- गजब बता रहे मजबूरी



बरेली। सरकारी कर्मचारी अजब- गजब मजबूरी बताकर पंचायत चुनाव से अपनी ड्यूटी हटवाना चाहते हैं। एक कर्मचारी ने गुहार लगाई, उसके भांजे की शादी है। घर में पिछले कई दिनों से तैयारियां चल रही हैं। अभी बहुत सी खरीदारी करनी है। कृपया, मेरी चुनाव ड्यूटी हटा दीजिए।


चुनाव ड्यूटी से मुक्ति पाने के लिए कोई बीमारी का बहाना तो कोई ज्यादा उम्र होने के कारण ड्यूटी न करने की बात कह रहा है। जिले की 1193 ग्राम पंचायतों में चुनाव कराने के लिए 18,500 से ज्यादा कर्मचारियों की ड्यूटी लगाई गई है। विकास भवन में चुनाव ड्यूटी निरस्त कराने पहुंच रहे कई कर्मचारियों ने तो अपने दस्तावेज जमा कर दिए हैं सबसे अधिक ड्यूटी कटवाने की पैरवी महिलाओं की आ रही है। डीसी मनरेगा गंगाराम वर्मा का कहना है कि जो वास्तव में बीमार व मजबूर हैं सिर्फ उनकी ड्यूटी काटी जा रही है। सीडीओ चंद्र मोहन गर्ग ने साफ कह दिया कि ड्यूटी को लेकर कोई बहाना नहीं चलेगा।