चुनाव ड्यूटी के दौरान शिक्षिकाओं को रात्रि प्रवास से छूट मिले


बहराइच : पंचायत चुनाव में अब बस चंद दिन बचे हैं। प्रशासन की ओर से सकुशल चुनाव कराने की सारी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। चुनाव में बड़े स्तर पर महिला शिक्षिकाओं की भी ड्यूटी लगाई गई है। ड्यूटी के दौरान महिला शिक्षिकाओं को सहूलियत मिले, इसके लिए राष्ट्रीय शैक्षिक महासंघ ने डीएम को मांग पत्र सौंपा है, और मतदान केन्द्र पर शिक्षिकाओं को रात्रि निवास से छूट की मांग की है।



राष्ट्रीय शैक्षिक महासंघ के प्रतिनिधि मंडल का नेतृत्व कर रहे जिलाध्यक्ष आनंद मोहन मिश्रा ने बताया कि त्रिस्तरीय पंचायत निर्वाचन में महिला शिक्षिकाओं की सुरक्षा एवं सुविधा के मद्देनजर डीएम की मांग पत्र सौंपा गया है। उन्होंने बताया कि मांग पत्र में शिक्षिकाओं की ड्यूटी उनके घर या कार्यस्थल के निकट के मतदान केंद्र पर ही लगाए जाने की मांग की गई है। इसके साथ ही जिलाधिकारी से मतदान स्थल पर रात्रि निवास से महिला शिक्षिकाओं कोछूट प्रदान करने, गर्भवती, नव प्रसूता एवं गंभीर बीमारियों से ग्रस्त या अन्य औचित्य पूर्ण कारणों के आधार वाली शिक्षिकाओं को चुनाव ड्यूटी से मुक्ति प्रदान करने की मांग की गई है।

गंभीर रूप से बीमार व दिव्यांग शिक्षकों को भी चुनाव इयूटी से मुक्त रखा जाय। इसके साथ ही शिक्षिकाओं को इयूटी पीठासीन अधिकारी के रूप में लगाने व निर्वाचन के लिए अपनी पोलिंग पार्टी के साथ ट्रक या बस से न जाकर मतदान के दिन प्रातः मतदान प्रारंभ होने के पूर्व निजी वाहन से मतदान केंद्र पर पहुंचने की मांग की गई है। प्रतिनिधि मंडल में उमेश चन्द्र त्रिपाठी, बलदेव प्रसाद आदि मौजूद रहे।