प्रधानों, प्रमुखों व जिला पंचायत अध्यक्षों को अब मिलेगा प्रशिक्षण


लखनऊ। सरकार ने त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के बाद नवनिर्वाचित प्रतिनिधियों के प्रशिक्षण की तैयारी शुरू कर दी है। जून में प्रस्तावित प्रशिक्षण से संबंधित सामग्री तैयार कराने का काम शुरू कर दिया है।


अपर मुख्य सचिव पंचायतीराज मनोज कुमार सिंह ने मंगलवार को पंचायती राज निदेशालय में प्रशिक्षण आवश्यकता असेसमेंट व संदर्भ साहित्य विकास के लिए आयोजित द्विदिवसीय राज्य स्तरीय कार्यशाला के समापन सत्र को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि पंचायत स्तर के कार्य बेहतर तरीके से हों तथा पंचायतें सशक्त हों, इसके लिए पंचायत का नेतृत्व भी सशक्त होना आवश्यक है।

इसके लिए प्रतिनिधियों का क्षमता विकास भली प्रकार से होना चाहिए ताकि वह अपने कर्तव्यों को जान सकें। इसके लिए नवनिर्वाचित ग्राम प्रधानों, पंचायत प्रमुखों व जिला पंचायत अध्यक्षों का दो दिवसीय राज्य स्तरीय उन्मुखीकरण कार्यक्रम जून के पहले सप्ताह में प्रस्तावित है। इस मौके पर निदेशक पंचायती राज किंजल सिंह, विभाग के अन्य वरिष्ठ अधिकारी व विषय विशेषज्ञ मौजूद रहे।