इनकम टैक्स की ई-फाइलिंग पोर्टल में दिक्कत पर वित्त मंत्री गंभीर

नई दिल्ली : इनकम टैक्स विभाग की नई ई-फाइलिंग वेबसाइट के लाइव में होने वाली देरी को वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने गंभीरता से लिया है। मंगलवार को उन्होंने ट्वीट कर वेबसाइट का निर्माण और संचालन करने वाली कंपनी इन्फोसिस और इसके और चेयरमैन नंदन नीलेकणि से कहा है कि इस वेबसाइट की सेवा गुणवत्ता का पूरा ध्यान रखा जाए, ताकि करदाताओं को इसकी वजह से कोई दिक्कत नहीं हो।


उन्होंने कहा कि आयकरदाताओं की सुविधाओं का ध्यान रखना हमारी प्राथमिकता होनी चाहिए। सीतारमण ने कहा कि वह उम्मीद करती है कि इन्फोसिस और नीलेकणि इस बात का ख्याल रखेंगे। इस पोर्टल की सभी तकनीकी जिम्मेदारी इन्फोसिस के पास है।

सोमवार को लांच होने वाली नई ई-फाइलिंग वेबसाइट के लाइव होने को लेकर वित्त मंत्री को यूजर्स से कई शिकायतें मिली थीं। वित्त मंत्री ने अपने ट्वीट में कहा कि ई-फाइलिंग पोर्टल 2.0 को सोमवार रात 8.45 बजे लांच किया जा सका। मैंने अपनी टाइमलाइन पर लोगों की शिकायतें और वेबसाइट की तकनीकी दिक्कतें देखीं। इनकम टैक्स विभाग ने आयकर रिटर्न यानी आइटीआर दाखिल करने के लिए सात जून को नया पोर्टल लांच करने की घोषणा कर रखी थी। लेकिन तकनीकी दिक्कतों की वजह से पोर्टल दिन में लांच नहीं हो सका।

देश की अग्रणी आइटी कंपनी इन्फोसिस लिमिटेड को आयकर विभाग का नया पोर्टल विकसित करने का जिम्मा 2019 में दिया गया था। इसका मकसद बढ़ते आयकरदाता आधार और बहुत सी गतिविधियों को पूरी तरह डिजिटल रूप दे देने के बाद पुरानी वेबसाइट पर बढ़ते लोड की समस्या को खत्म करना था। इस नई वेबसाइट के माध्यम से करदाताओं को रिफंड भी एक ही दिन में मिल जाएगा। पुरानी वेबसाइट पर रिटर्न को प्रोसेस करने में दो महीनों तक का वक्त लग जाता था।