बेसिक शिक्षा विभाग में एसटीएफ की जांच में चिह्नित तीन फर्जी शिक्षकों पर कार्रवाई जल्द


आजमगढ़। एसटीएफ की जांच में 76 जालसाजों ने फर्जी प्रमाणपत्रों से बेसिक शिक्षा विभाग के स्कूलों में सहायक अध्यापक की नौकरी प्राप्त कर ली थी। इसमें जिले के छह शिक्षकों को चिह्नित किया गया था। जिसमें तीन शिक्षकों की सेवा समाप्ति व एफआईआर की कार्रवाई कराई जा चुकी है। वहीं तीन फर्जी शिक्षकों पर कार्रवाई होनी बाकी है। इसे लेकर शासन ने जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी से कार्रवाई की रिपोर्ट तलब की है।
शासन के निर्देश पर वर्ष 2018 से ही एसटीएफ फर्जी शिक्षकों की जांच कर रही है। जांच शुरू होने के बाद कई फर्जी शिक्षकों की सेवा समाप्त कर उन्हें उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई गई। जिले में कुल छह शिक्षक संदिग्ध पाए गए हैं। जिसमें तीन की सेवा समाप्त कर उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई गई है। जिसमें तहबरपुर ब्लाक के प्राथमिक विद्यालय केशवपुर बरतानी में तैनात अध्यापक वरुणेश कुमार, लालगंज के प्राथमिक विद्यालय इस्माइलपुर बरहती में तैनात अरुण कुमार मिश्र व अतरौलिया के प्राथमिक विद्यालय भिउरा में रिंकी सिंह शामिल है। वहीं बाकी के तीन शिक्षकों की जांच चल रही है

एसटीएफ द्वारा जिले में छह शिक्षक चिह्नित किए गए हैं। जिसमें से तीन के खिलाफ कार्रवाई हो चुकी है। तीन के खिलाफ अभी कार्रवाई होनी बाकी है। उनका अभिलेख संबंधित विश्वविद्यालयों को भेजा गया है। कोरोना संक्रमण के कारण अभी सत्यापन नहीं हो सका है। बहुत जल्द ही सत्यापन होने के बाद उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।
अम्बरीष कुमार, जिला विद्यालय निरीक्षक