बच्चे की उम्र के मुताबिक क्लास में दाखिला दिलाएगी 'शारदा', बेसिक शिक्षा विभाग ने दाखिले की नियमावली में किया बदलाव

गोरखपुर। जिले में शिक्षा से वंचित बच्चों को चिहिनत कर परिषदीय विद्यालयों में उप्र के हिसाब से उन्हें दाखिला दिलाया जाएगा। साथ ही चिहिनत बच्चों को किस स्कूल में कौन सी कक्षा में दाखिला कराया गया है, इसका रिकॉर्ड शारदा पोर्टल पर
अपलोड करना होगा। बेसिक शिक्षा विभाग ने प्रवेश की प्रक्रिया में बदलाव की जानकारी सभी बेसिक शिक्षा अधिकारियों को भेज दी है।

जिन बच्चों को शारदा कार्यक्रम के अंतर्गत उम्र के हिसाब से दाखिला मिलेगा उनकी शिक्षा का स्तर कक्षा के अनुरूप लाने के लिए विशेष कक्षाओं में पढ़ाई होगी। जहां उन्हें विशेष पाठ्यक्रम के आधार पर लिखना और पढ़ना सिखाने के साथ उनकी कक्षा तक का पाठ्यक्रम पूरा कराया जाएगा।  इसके अलावा इन बच्चों की अतिरिक्त कक्षाएं भी लगेंगी। जब तक बच्चा पढ़ना और लिखना नहीं सीख पाता तब तक पहले मौखिक रूप से ही याद कराया जाएगा और विभिन्‍न विषयों के चेप्टर से संबंधित जानकारी कंठस्थ कराई जाएगी। शिक्षकों का कहना है कि बच्चा यदि उम्र में बड़ा है तो वह बच्चों की उम्र कितनी भी हो, लेकिन उसे कक्षा एक से ही पढ़ाई शुरू जल्दी ही पढ़ना-लिखना सीख पाएगा।


आउट ऑफ स्कूल बच्चों के हिसाब से दाखिला कराया जाएगा। बच्चों की शिक्षा उनकी कक्षा के स्तर तक लाने के लिए विशेष कक्षाओं का संचालन होगा। चिहिनित बच्चों का रिकॉर्ड शारदा पोर्टल पर भी अपलोड करना होगा। इसके लिए समग्र शिक्षा 2 हम, द्वारा आदेश जारी किए गए हैं। स्कूल खुलते ही इसे लागू किया जाएगा। -बीएन सिंह, जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी