शिक्षामित्रों ने रखी जून का मानदेय देने की मांग



लखनऊ । जून का मानदेय नहीं लेकिन ड्यूटी पूरी करवाई जाएगी। शिक्षा मित्रों को जून का मानदेय तक नहीं मिलता लेकिन कई जिलों में राशन वितरण, कोविड वैक्सीन सेंटरों पर लगाई जा रही है। और तो और ई - पाठशाला भी चल रही है ।


लिहाजा, अब शिक्षामित्रों ने तय किया है कि वे महानिदेशक स्कूल शिक्षा के आदेश के बिना ड्यूटी नहीं करेंगे। प्रदेश में 1.58 लाख शिक्षामित्र हैं। उन्होंने मांग की है कि उन्हें जून का मानदेय भी दिया जाए। शिक्षामित्रों की संविदा 11 महीने की होती है। उनकी संविदा 31 मई को खत्म हो जाती है और एक जुलाई से शुरू होती है ।