यूपी बोर्ड के छात्रों को प्रमोट करने का फार्मूला तैयार, जानें- पूरी डिटेल...


उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद (यूपी बोर्ड) की हाईस्कूल और इंटरमीडिएट परीक्षा निरस्त कर विद्यार्थियों को प्रोन्नत करने की घोषणा के बाद अब रिजल्ट तैयार करने का काम तेज हो गया है। अपर मुख्य सचिव (माध्यमिक शिक्षा) आराधना शुक्ला की अध्यक्षता में शनिवार को राजधानी में स्थित माध्यमिक शिक्षा निदेशक के शिविर कार्यालय में एक महत्वपूर्ण बैठक हुई। इसमें प्रोन्नति के फार्मूले पर चर्चा की गई। रविवार को भी वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये सभी जिलों के शिक्षाधिकारियों से प्रोन्नति के मसले पर चर्चा की जाएगी।



फिलहाल शनिवार को हुई बैठक में हाईस्कूल व इंटरमीडिएट के 56 लाख विद्यार्थियों को प्रोन्नत करने के लिए कई बिंदुओं पर मंथन किया गया। इंटरमीडिएट के विद्यार्थियों का रिजल्ट कक्षा 10 की बोर्ड परीक्षा के अंकों व कक्षा 11 में मिले अंकों के औसत के आधार पर तैयार किया जाएगा। अगर कक्षा 11 के वार्षिक परीक्षा के अंक उपलब्ध नहीं होंगे तो उस स्थिति में कक्षा 12 की प्री बोर्ड परीक्षा के अंकों को जोड़ा जाएगा।



इसी तरह हाईस्कूल का रिजल्ट कक्षा नौ में मिले अंकों व कक्षा 10 के प्री बोर्ड के अंको के औसत के आधार पर तैयार किया जाएगा। फिलहाल आंतरिक मूल्यांकन इत्यादि पर भी चर्चा की गई। हाईस्कूल व इंटरमीडिएट का परीक्षा परिणाम जून के अंतिम सप्ताह में घोषित करने की तैयारी की जा रही है।


उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद (यूपी बोर्ड) की हाईस्कूल परीक्षा पहले ही निरस्त हो चुकी है, जबकि इंटरमीडिएट की परीक्षा बाद में गुरुवार को निरस्त की गई। दोनों के लिए पंजीकृत परीक्षार्थियों को प्रमोट किया जाना है। उप मुख्यमंत्री डा. दिनेश शर्मा ने गुरुवार शाम को ऐलान किया कि प्रोन्नत करने का फार्मूला तैयार हो गया है, लेकिन कुछ घंटे बाद कहा गया कि अपर मुख्य सचिव आराधना शुक्ला की अगुवाई में प्रोन्नत का फार्मूला तय करने की कमेटी बनाई गई है। यकायक तय फार्मूले को टालने की वजह सीबीएसई की ओर से की जा रही देरी है।