43 फर्जी शिक्षकों पर केस कराने में बेसिक शिक्षा विभाग की हीलाहवाली, ऐसे ठंडे बस्ते में डाला मामला


सिद्धार्थनगर:- 
परिषदीय विभाग फर्जी शिक्षकों पर नरमी बरत कर मौज करने के लिए छोड़ दिया है। जिले में एक वर्ष पूर्व पकड़े गए 54 फर्जी शिक्षकों में अब तक सिर्फ 11 पर मुकदमा हो सका है। बाकी 43 पर मुकदमा दर्ज कराने में विभाग हीलाहवाली कर रहा है। महानिदेशक स्कूल शिक्षा ने तीन अप्रैल को गूगल मीट के जरिए बीएसए को फटकार लगाते हुए मुकदमा दर्ज कराने का आदेश दिया है बावजूद लापरवाही हो रही है

परिषदीय विभाग में सांठगांठ से फर्जीवाड़ा काफी दिनों से चल रही है। एसटीएफ की जांच में इसका खुलासा हुआ है । एक वर्ष पहले जिले में 54 फर्जी शिक्षक पकड़े गए थे। विभाग ने इन्हें बर्खास्त करने के बाद मुकदमा लिखवाने की बजाए मामले को ठंडे बस्ते में डाल दिया । शिक्षकों के बर्खास्त होने के बाद से जिले में तीसरे बीएसए राजेंद्र सिंह सेवारत हैं बावजूद फर्जी शिक्षकों पर मेहरबानी जारी है।

शासन ने फर्जी शिक्षकों पर हुई कार्रवाई की रिपोर्ट तलब किया तो
महानिदेशक कार्यालय में हलचल तेज हुई तीन अप्रैल को महानिदेशक स्कूल शिक्षा विजय किरण आनंद ने गूगल मीट के जरिए बीएसए को फटकार लगाते हुए सभी फर्जी शिक्षकों पर मुकदमा दर्ज कराते हुए रिपोर्ट तलब किया था, लेकिन मामला फिर ठंडे बस्ते में चला गया है। महानिदेशक को मुकदमा दर्ज कराने का आदेश दिए तीन माह से अधिक का समय बीत रहा है, लेकिन अब तक 54 शिक्षकों में मात्र चार ब्लॉकों में 11 पर मुकदमा दर्ज हो सका है।

ऐसे ठंडे बस्ते में डाला मामला : फर्जी शिक्षकों पर शासन का डंडा चलते ही बीएसए राजेंद्र सिंह ने सात ब्लॉकों के बीईओ से 31 फर्जी शिक्षकों पर मुकदमा दर्ज कराने के लिए अलग अलग फाइल सदर थाने में दिया।

सदर थाना ने एसपी के आदेश पर बीएसए से सभी फर्जी शिक्षकों पर मुकदमा लिखने के लिए एक फाइल की मांग की। साथ ही राय दिया कि अलग अलग मुकदमा दर्ज कराने के लिए संबंधित ब्लॉकों के थाने पर तहरीर दें । इससे बाद से मामले को विभाग ने ठंडे बस्ते में डाल दिया।


यहां दर्ज हुआ है मुकदमा

ब्लॉक  फर्जी शिक्षक संख्या

शोहरतगढ 05

जोगिया 03

डुमरियागंज 02

बढ़नी 01

 फर्जी शिक्षकों पर मुकदमा दर्ज कराने के लिए बीईओ को आदेशित किया गया है। जल्दी ही शेष बचे शिक्षकों पर मुकदमा दर्ज हो जाएगा।
राजेंद्र सिंह, बीएसए