परिषदीय विद्यालयों का औचक निरीक्षण के दौरान उपस्थिति पंजिका में 45 मिनट में हाजिर हुआ शिक्षक तो उड़े बीएसए के होश, प्रधानाध्यपक बोले- दबाव बनाकर शिक्षक लगवाता है हाजिरी

यूपी के बरेली में बीएसए ने मंगलवार को विकासखंड फरीदपुर के परिषदीय विद्यालयों का औचक निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान पाया कि परिषदीय विद्यालय अंधरपुरा के सहायक अध्यापक 45 मिनट में गैरहाजिर से उपस्थित पंजिका में हाजिर हो गए। प्रधानाध्यापक ने बताया कि शिक्षक ने दबाव बनाकर हाजिरी लगवाई है।

निरीक्षण के दौरान उच्च प्राथमिक विद्यालय, सरकड़ा में बीएसए ने उपस्थित पंजिका में देखा कि सहायक अध्यापक धनेश चौरसिया का नाम पहले अंकित तो था। लेकिन, वर्तमान में नाम दर्ज नहीं है। जानकारी करने पर पता लगा कि उसका तबादला फरीदपुर ब्लाक के ही अंधरपुरा में हो गया। ऐसे में बीएसए विनय कुमार ने प्रधानाध्यपक सुबोध को फोन कर शिक्षकों की उपस्थित पंजिका का फोटो भेजने को कहा।



प्रधानाध्यपक ने बताया कि सहायक अध्यापक धनेश चौरसिया, छोटेलाल चौधरी व अनुदेशक डाली तीनों ही अनुपस्थित हैं। इसमें धनेश कभी स्कूल नहीं आते। सुबह 10:16 बजे प्रधानाध्यपक ने जो फोटो भेजी उसमें धनेश 16 जुलाई से बीस जुलाई तक अनुपस्थित चल रहा था। 10:52 बजे जब दोबारा पंजिका की फोटो बीएसए ने मांगी तो उसमें शिक्षक धनेश उपस्थित थे।


इस पर बीएसए ने जब प्रधानाध्यपक से जवाब तलब किया तो उन्होंने बताया कि दवाब बनाकर शिक्षक ने गैरहाजिरी को हाजिरी में परिवर्तित कराया है। बीएसए ने बताया कि शिक्षक धनेश को संस्पेड कर दिया गया है। वहीं शिक्षक छोटेलाल व अनुदेशक डाली जायसवाल का वेतन रोककर, अनुशासनहीन व्यवहार करने पर प्रधानाध्यपक के खिलाफ विभागीय कार्रवाई की जानी है।