69000 शिक्षक भर्ती में आरक्षण को लेकर भ्रम दूर करें: CM

लखनऊ : परिषदीय प्राथमिक विद्यालयों में 69 हजार शिक्षकों की भर्ती को लेकर अन्य पिछड़ा वर्ग के अभ्यर्थियों के धरना-प्रदर्शन के संदर्भ में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मंगलवार को बेसिक शिक्षा राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) डा.सतीश चंद्र द्विवेदी और विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों को बुलाकर मामले की जानकारी ली।

अन्य पिछड़ा वर्ग के अभ्यर्थी जगह-जगह धरना-प्रदर्शन कर शिक्षकों की भर्ती में आरक्षण के नियमों का पालन न किये जाने का आरोप लगा रहे हैं। बीते दिनों यह अभ्यर्थी बेसिक शिक्षा मंत्री व उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य के सरकारी आवास, भाजपा प्रदेश कार्यालय, बेसिक शिक्षा निदेशालय पर धरना दे चुके हैं। उनका कहना है कि शिक्षक भर्ती में ओबीसी श्रेणी के लिए निर्धारित सीटों पर अन्य पिछड़ा वर्ग अभ्यर्थियों का चयन न कर उन्हें उनके हक से वंचित किया गया है।

सूत्रों के अनुसार बेसिक शिक्षा मंत्री ने मुख्यमंत्री को बताया कि 69000 शिक्षक भर्ती में अन्य पिछड़ा वर्ग के 27 फीसद आरक्षण के आधार पर ओबीसी श्रेणी की 18630 सीटें होती हैं। इसके सापेक्ष 31000 से ज्यादा सीटों पर अन्य पिछड़ा वर्ग के अभ्यर्थियों का चयन हुआ है। शिक्षक भर्ती में आरक्षण के नियमों का पूरी तरह पालन किया गया है। इसलिए ओबीसी अभ्यर्थियों के साथ नाइंसाफी का आरोप बेबुनियाद है।

’>>मुख्यमंत्री का बेसिक शिक्षा मंत्री और विभागीय अधिकारियों को निर्देश