नॉन-बीएड बीएफए के 90 चयनितों की नियुक्ति का रास्ता हुआ साफ


राजकीय विद्यालयों में सहायक अध्यापक (प्रशिक्षित स्नातक) कला के लिए चयनित नॉन-बीएड बीएफए अभ्यर्थियों की नियुक्ति का रास्ता मंगलवार को साफ हो गया। उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग ने पदस्थापन के लिए शिक्षा निदेशालय को इन एलटी ग्रेड अभ्यर्थियों की फाइल भेज दी। भर्ती के विज्ञापन में बीएड और बीएफए अनिवार्य अहर्ता थी।



कुल 470 पदों पर हुई परीक्षा में आवश्यक अहर्ता वाले 139 अभ्यर्थियों की नियुक्ति 9 महीने पहले ही हो चुकी है। भर्ती में चयनित 90 नॉन-बीएड अभ्यर्थियों ने भी नियुक्ति के लिए हाईकोर्ट में याचिका की थी। उनका कहना है कि नवोदय विद्यालय, केंद्रीय विद्यालय, दिल्ली एवं उत्तराखंड में कला शिक्षकों की भर्ती में बीएफए मान्य है।

आयोग ने राष्ट्रीय अध्यापक शिक्षा परिषद (एनसीटीई) को पत्र लिखकर अहर्ता के संबंध में स्पष्टीकरण मांगा था। एनसीटीई के स्पष्टीकरण के बाद आयोग ने सभी 90 अभ्यर्थियों की फाइल तैनाती के लिए भेज दी। प्रतियोगी मोर्चा के अध्यक्ष विक्की खान और राजकुमार पांडेय ने सभी चयनितों को बधाई दी है। इंटर प्राविधिक कला और स्नातक योग्यताधारी 228 चयनित अभ्यर्थियों का अभ्यर्थन आयोग ने पूर्व में ही निरस्त कर दिया था।


22 से 28 तक विकल्प भरेंगे हिन्दी व सोशल के चयनित

राजकीय विद्यालयों में चयनित हिन्दी व सामाजिक विज्ञान विषय के एलटी ग्रेड सहायक अध्यापकों की तैनाती के लिए पोर्टल मंगलवार को खुल गया। ऑनलाइन माध्यम से पदस्थान के लिए चयनित शिक्षक 22 से 28 जुलाई तक विकल्प दे सकेंगे। स्कूलों में रिक्त पदों का ब्योरा भी अपलोड कर दिया गया है