यूपी समेत कई राज्यों में तेजी से बढ़ रहे निजी स्कूल


उच्च शिक्षा में ही नहीं स्कूल शिक्षा में भी निजी क्षेत्र का दखल बढ़ रहा है। कई राज्यों में निजी स्कूल तेजी से बढ़ रहे हैं। उत्तर प्रदेश, दिल्ली, महाराष्ट्र समेत कई राज्यों में निजी स्कूलों की संख्या बढ़ रही है।

शिक्षा मंत्रालय द्वारा हाल में जारी यूडीआईएससी रिपोर्ट 2019-20 के आंकड़ों के अनुसार देश में कुल 1032570 सरकारी स्कूल हैं जबकि निजी स्कूलों की संख्या 337499 है जबकि 84362 सरकारी सहायता प्राप्त स्कूल हैं। इस प्रकार देश में कुल स्कूलों में निजी स्कूलों की भागीदारी 20-21 फीसदी के करीब है। लेकिन कई राज्यों में यह प्रतिशत बहुत ज्यादा है।

सबसे ज्यादा निजी स्कूल उत्तर प्रदेश में हैं। राज्य में 93750 प्राइवेट मान्यता प्राप्त स्कूल हैं जबकि सरकारी स्कूलों की संख्या 137638 है। इसके अलावा 8048 सरकारी सहायता प्राप्त स्कूल हैं। इस प्रकार प्रदेश में कुल 239436 स्कूलों में से निजी स्कूलों की हिस्सेदारी करीब 39 फीसदी पहुंच चुकी है। वहीं, बिहार, झारखंड, उत्तराखंड, ओडिशा आदि राज्यों में निजी स्कूलों की संख्या अपेक्षाकृत कम है।


केरल में सरकारी स्कूलों से ज्यादा सहायता प्राप्त स्कूल

केरल में सरकारी स्कूलों से ज्यादा सहायता प्राप्त स्कूल हैं। राज्य में 5014 सरकारी एवं 3282 निजी स्कूल हैं। लेकिन राज्य में 7193 सहायता प्राप्त स्कूल हैं। राजस्थान में एक भी सरकारी सहायता प्राप्त स्कूल दर्ज नहीं है। वहां भी निजी स्कूल वहा भी बढ़ रहे हैं वहां 67660 सरकारी तथा 36056 निजी स्कूल हैं। कुल स्कूलों में निजी स्कूलों की हिस्सेदारी करीब 35 फीसदी की है। मध्य प्रदेश में एक लाख में से करीब 30 फीसदी निजी स्कूल है।


दिल्ली में निजी स्कूलों की हिस्सेदारी सबसे ज्यादा

दिल्ली में कुल 2767 सरकारी स्कूल हैं जबकि निजी स्कूलों की संख्या 2652 तक पहुंच गई है। इसके अलावा 250 सरकारी सहायता प्राप्त स्कूल भी हैं। इस प्रकार दिल्ली में कुल 5669 स्कूलों में से निजी स्कूलों की हिस्सेदारी 47 फीसदी तक पहुंच चुकी है यह देश में सबसे ज्यादा है। वहीं, हरियाणा में 14484 सरकारी, 8195 निजी तथा 17 सहायता प्राप्त स्कूल है। कुल 22696 स्कूलों में निजी स्कूलों की हिस्सेदारी 36 फीसदी तक पहुंच गई है।