अगले साल ही पूरी हो सकेगी प्रधानाचार्य भर्ती,भर्ती पूर्ण होने में यह है मुख्य समस्या

प्रयागराज। प्रदेश के अशासकीय विद्यालयों में प्रधानाचार्य भर्ती अब अगले साल ही पूरी हो सकेगी। इस भर्ती का विज्ञापन वर्ष 2013 में जारी किया गया था। आठ साल बाद भर्ती शुरू करने की तैयारी हुई तो पता चला कि संबंधित एजेंसी रिकार्ड लेकर भाग गई है। अब आवेदनों का नए सिरे से परीक्षण किया जा रहा है।


माध्यमिक शिक्षा सेवा चयन बोर्ड सितंबर के पहले सप्ताह में प्रधानाचार्य भर्ती के लिए इंटरव्यू शुरू करा सकता है। अशासकीय विद्यालयों में प्रधानाचार्य के 599 पदों पर भर्ती के लिए विज्ञापन जारी किया गया था। आवेदन प्रक्रिया पूरी करने कौ जिम्मेदारी एजेंसी को सौंपी गई थी। भर्ती बीच में हो फंस गई और एजेंसी भो रिकार्ड सहित गायब हो गई। प्रधानाचार्य के पदों पर भर्ती के लिए 25 हजार आवेदन आए थे। अब बोर्ड के सदस्य ओपी राय को आवेदनों के परीक्षण की जिम्मेदारी सौंपी गई है। प्रदेश के 18 मंडलों में से अब तक सात मंडलों से आए आवेदनों का परीक्षण पूरा हो चुका है, जबकि 11 मंडलों के आवेदनों का परीक्षण होना बाकी है, जिसे पूरा करने में एक माह का वक्‍त लग सकता है। ऐसे में पूरा जुलाई माह परीक्षण में ही बीत जाएगा। इस बीच चयन बोर्ड ने सात एवं आठ अगस्त को टीजीटी और 17 एवं 18 अगस्त को पीजीटी की परीक्षा तिथि घोषित कर दी है। परीक्षा को व्यस्तता के कारण 18 अगस्त तक इंटरव्यू शुरू होना मुश्किल है।