भड़के बीईओ ने सीडीओ के खिलाफ खोला मोर्चा, बीएसए कार्यालय में बैठक कर खंड शिक्षा अधिकारियों ने दुर्व्यवहार पर जताया आक्रोश, शासन को भेजा पत्र


प्रतापगढ़। बैठक के दौरान दुर्व्यवहार का आरोप लगाने खंड शिक्षा अधिकारियों ने सीडीओ के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। बृहस्पतिवार को सभी बीईओ ने बीएसए कार्यालय में बैठक कर घटना पर गहरी नाराजगी जताई और कहा कि ऐसे अफसरों के साथ काम करना संभव नहीं है। सीडीओ की बैठक में बाबागंज के बीईओ को मुर्गा बनने के लिए कहने और कुंडा के बीईओ को खड़ा कराने से आक्रोशित साथियों ने मामले से डीएम को अवगत कराते हुए शासन में बैठे अफसरों को पत्र लिखकर शिकायत की है।


बुधवार की शाम सीडीओ कार्यालय में खंड शिक्षा अधिकारियों की बैठक बुलाई गई थी। स्कूलों में शौचालयों के क्रियाशील नहीं होने की जानकारी होने पर सीडीओ ने नाराजगी प्रकट करते हुए सभी को फटकार लगाई। बाबागंज ब्लॉक में तैनात खंड शिक्षा अधिकारी कोमल यादव का आरोप है कि सीडीओ ने उन्हें मुर्गा बनाने और अन्य साथियों के लिए गधा, 1, नकारा जैसे शब्दों का इस्तेमाल किया। जिससे नाराज होकर वह मीटिंग छोड़कर बाहर निकल आए।

बृहस्पतिवार को उत्तर प्रदेशीय विद्यालय निरीक्षक संघ के जिलाध्यक्ष कोमल यादव और मंत्री वीके त्रिपाठी ने सीडीओ के दुर्व्यवहार की निंदा करते हुए डीएम को पत्र लिखकर सीडीओ से साथ कार्य करने में असमर्थता जताई। बीएसए कार्यालय में हुई बैठक में सी बीईओ ने एकजुटता दिखाते हुए सीडीओ के खिलाफ कार्रवाई होने तक आंदोलन करने की चेतावनी दी। जिलाध्यक्ष कोमल यादव ने मुख्य सचिव और महानिदेशक स्कूल शिक्षा और मंडलायुक्त को पत्र भेजकर बीईओ के आत्मसम्मान की रक्षा करने की मांग की है।


अगर कोई गलती हुई है। या हमारी प्रगति ठीक नहीं है, तो अधिकारी दंड दे सकते हैं। यह उनका अधिकार है। मगर इस तरह मीटिंग में बुलाकर अपमानित करना बदश्ति नहीं किया जा सकता है। हम झुकने वाले नहीं हैं। अमर्यादित आचरण बर्दाश्त नहीं किया जा सकता है।
- कोमल यादव, बीईओ, बाबागंज


मैने किसी को कुछ नहीं कहा। काम नहीं करने वाले तरह-तरह के बहाने बनाते हैं। फिलहाल, लापरवाह लोगों को इस तरह खुली छूट नहीं दी जा सकती है।
प्रभाष कुमार, सीडीओ