लखनऊ : स्कूलों में लगने लगी स्मार्ट क्लास, घर से पढ़ रहे बच्चे

लखनऊ। स्कूलों में भले ही अभी तक बच्चों को आने की अनुमति नहीं हो, लेकिन गुरुजी की स्मार्ट क्लास शुरू हो गई है। निजी स्कूलों के अधिकांश शिक्षकों घर के बजाय स्कूल के ब्लैकबोर्ड पर बच्चों को पढ़ाना शुरू कर दिया है। स्कूल में बेहतर संसाधन मिलने से शिक्षकों को ऑनलाइन पढ़ाने में भी सुविधा होने लगी है तो बच्चे भी अपनी क्लास को देख अच्छा महसूस करने लगे हैं।


शिक्षकों के इस प्रयास से बच्चों की उबाऊ पढ़ाई रुचिकर होने लगी है। इससे पहले शिक्षक अपने घर से पढ़ा रहे थे। घर में न उतने बेहतर संसाधन थे और न ही ब्लैकबोर्ड व स्मार्ट बोर्ड। स्कूलों में पढ़ाने से शिक्षकों को ज्यादा सुविधा हो रही है। अब वे बच्चों को अच्छे से समझा भी पा रहे हैं। क्लास भले ही खाली हो, लेकिन बच्चों को अपनी क्लास का नजारा देख अच्छा लगता है। शिक्षक बच्चों को पूरी क्लास का नजारा दिखाते हैं और उन्हें भरोसा दिलाते हैं कि परिस्थितियां ठीक होने पर एक बार फिर सभी क्लास में एकसाथ बैठकर पढ़ाई करेंगे।

जीडी गोयनका पब्लिक स्कूल की प्रिंसिपल रवीन पांडे ने बताया कि पढ़ाई तकनीक के माध्यम से ही हो रही है, फर्क यह है कि शिक्षक अब स्कूल में मौजूद स्मार्ट संसाधनों का उपयोग कर और बेहतर ढंग से पढ़ा रहे हैं। अवध कॉलेजिएट के प्रबंधक सर्वजीत सिंह ने बताया कि शिक्षक स्कूल आने लगे हैं। क्लास में लगे स्मार्ट बोर्ड से सभी शिक्षक पढ़ा रहे हैं। शिक्षक जो भी लिखते हैं छात्रों को अब और साफ व स्पष्ट दिखता है। पॉयनियर मोंटेसरी स्कूल, वरदान इंटरनेशनल एकेडमी, सीएमएस, लखनऊ पब्लिक स्कूल समेत अन्य निजी स्कूलों में भी शिक्षक कक्षाओं से स्मार्ट क्लास के माध्यम से पढ़ाने लगे हैं। यही नहीं यूपी बोर्ड के सरकारी स्कूलों में भी शिक्षक कक्षाओं से पढ़ाने लगे हैं। लखनऊ मोंटेंसरी इंटर कॉलेज के प्रधानाचार्य प्रशांत मिश्रा ने बताया कि शिक्षकों द्वारा ऑनलाइन पढ़ाई के लिए कक्षाओं में व्यवस्था की गई है।