आकांक्षी जिलों में भी हो शिक्षकों का अंतर्जनपदीय स्थानांतरण, मांग


श्रावस्ती।

आकांक्षी जनपद के कारण अंतर्जनपदीय स्थानांतरण के लाभ से वंचित शिक्षकों ने श्रावस्ती विधायक राम फेरन पाण्डेय को ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन में गृह जनपदों में स्थानांतरण की मांग की गई।


शिक्षको न मांग की है कि आकांक्षी जनपदों से शिक्षकों का स्थानांतरण बिना किसी शर्त के किया जाय। दो -दो बार अन्य सभी जनपदों से बेसिक शिक्षकों का स्थानांतरण उनके गृह जनपद में किया गया, परंतु आकांक्षी जनपद श्रावस्ती के शिक्षकों को स्थानांतरण से वंचित रखा गया, जो न्यायसंगत नहीं है। शिक्षकों ने कहा कि विगत कई वर्षों से आकांक्षी जनपद के शिक्षक पूर्ण मनोयोग से शिक्षण कार्य कर रहे हैं। जनपद में छह वर्ष से भी अधिक समय से शिक्षक अपने गृह जनपद और परिवार से दूर रहकर कार्य कर रहे हैं। वैश्विक महामारी के इस दौर में भी शिक्षक अपने घर परिवार के स्नेह व पारिवारिक उत्तरदायित्वों से वंचित रहे हैं। शिक्षकों का कहना है कि उन्हें भी उनके गृह जनपद स्थानांतरित करके न्याय किया जाय। विधायक राम फेरन पाण्डेय व जिलाध्यक्ष संजय कैराती ने शिक्षकों की बात सरकार तक पहुंचाने का आश्वासन दिया। इस मौके पर रविशंकर पांडेय, स्वप्निल पांडेय, संजीवनी सिंह, प्रियंका मिश्रा, सुनीता यादव, अखिल गुप्ता, धीरज श्रीवास्तव, विकास मिश्रा, सविता, शैलजा राठौर, रत्नेश सिंह, सुनील सिंह, संध्या मिश्रा, सर्वेश यादव, हाकिम सिंह, सौरभ तिवारी, कृष्ण कुमार पांडेय, दिव्या भदौरिया, सुनीता, सुधा सिंह, पूनम सिंह, दीपा मिश्रा, नीलम, ज्योति चौहान, विभव मिश्रा,मनोज कुमार, वरुण मिश्रा, जयशंकर यादव आदि मौजूद रहे।