असिस्टेंट प्रोफेसर भर्ती के लिए दो विषयों में आवेदन से परीक्षा कार्यक्रम तैयार करना चुनौती

प्रदेश के अशासकीय महाविद्यालयों में असिस्टेंट प्रोफेसर भर्ती के लिए उत्तर प्रदेश उच्चतर शिक्षा सेवा आयोग  (यूपीएचईएससी) ने परीक्षा तिथि तो घोषित कर दी, लेकिन विषयवार परीक्षा कार्यक्रम अभी जारी नहीं किया गया है। तमाम अभ्यर्थियों ने दो-दो विषयों में आवेदन किए हैं, ऐसे में आयोग को परीक्षा कार्यक्रम निर्धारित काफी मशक्कत करनी होगी।



अशासकीय महाविद्यालयों में विज्ञापन संख्या-46 के तहत एक विषय भूगर्भ विज्ञान में असिस्टेंट प्रोफेसर के एक पद और विज्ञापन संख्या-50 के तहत 47 विषयों में असिस्टेंट प्रोफेसर के 2002 पदों पर भर्ती होनी है। आयोग ने पांच चरणों में परीक्षा कराने का निर्णय लिया है, लेकिन किस चरण में कौन से विषय की परीक्षा कराई जाएगी, यह अभी तय नहीं हुआ है। परीक्षा 30 अक्तूबर से शुरू होनी है और 12 दिसंबर को आखिरी चरण की परीक्षा होगी। परीक्षा में विषयों की संख्या काफी अधिक है और तमाम अभ्यर्थियों ने दो-दो विषयों में आवेदन किए हैं। ऐसे में आयोग को परीक्षा कार्यक्रम निर्धारित करने विषयों के कॉम्बिनेशन को भी ध्यान में रखना है।


इसके अलावा अभी ऑनलाइन आवेदन की प्रक्रिया भी चल रही है। अभ्यर्थियों को ऑनलाइन आवेदन के लिए अतिरिक्त अवसर दिया गया है। आवेदन आठ जुलाई तक लिए जाएंगे और इसके बाद स्पष्ट होगा कि किस विषय में कितने अभ्यर्थियों ने आवेदन किए हैं। परीक्षा कार्यक्रम और केंद्रों की संख्या भी अभ्यर्थियों की संख्या के आधार पर तय होगी। फिलहाल आयोग में विषयवार परीक्षा कार्यक्रम तैयार किए जाने का काम शुरू हो गया है। आवेदन की प्रक्रिया पूरी होने के बाद इसे अंतिम रूप दिया जाएगा। वहीं, अभ्यर्थी मांग कर रहे हैं कि आयोग विषयवार परीक्षा कार्यक्रम शीघ्र जारी करे।