यूपी बोर्ड के रिपोर्ट कार्ड में नए सत्र से कई बदलाव, नई शिक्षा नीति के अनुसार तैयार की गई मार्कशीट


नई शिक्षा नीति के अनुरूप माध्यमिक शिक्षा बोर्ड में बदलाव शुरू हो गए हैं। बोर्ड अब अपने छात्रों के रिपोर्ट कार्ड को भी बदलने जा रहा है। 360 डिग्री के आधार पर आकलन कर छात्र को कक्षा 6 से 12वीं तक की मार्कशीट दी जाएगी।



नई मार्कशीट तैयार करने की जिम्मेदारी बरेली को मिली है।

रिपोर्ट कार्ड में मुख्य विषयों के पाठ्य सहगामी अंकों के साथ-साथ और व्यक्तित्व मूल्यांकन के ब्रेड भी होंगे। अभी तक सीबीएसई स्कूलों में ही पाठ्य सहगामी और व्यक्तित्व मूल्यांकन के ग्रेड मार्कशीट पर दर्ज किए जाते थे। शासन ने अभी प्रस्तावित रिपोर्ट कार्ड पर अंतिम मुहर नहीं लगाई है, मगर जो रिपोर्ट कार्ड तैयार किए गए हैं, लगभग उनको ही फाइनल होना है। नए रिपोर्ट कार्ड तैयार कर रही टीम के सदस्य ने बताया, प्रस्तावित मार्कशीट को मुख्य रूप से दो हिस्सों में विभाजित किया गया है। एक हिस्से में शैक्षिक मूल्यांकन दर्ज होगा तो दूसरे हिस्से में पाठ्य सहगामी गतिविधियों के अंक शामिल किए जाएंगे। इनमें सहपाठियों से व्यवहार, शिक्षकों से व्यवहार, सामाजिक कार्य, स्वभाव, शिष्टाचार, आत्मविश्वास पहल की प्रवृत्ति, संतुलन, अनुशासन, समय की पाबंदी, जैसे बिंदु शामिल किए गए हैं। इन बिंदुओं पर श्रेष्ठ, श्रेष्ठतर और श्रेष्ठतम वर्ग में ग्रेड दिया जाएगा।

त्रैमासिक, अर्धवार्षिक और वार्षिक के होंगे अंक
मार्कशीट पर छात्रों की आचार संख्या मोबाइल नंबर और ईमेल आईडी को भी प्रस्तावित किया गया है। कक्षा छह से आठवीं तक की मार्कशीट में शैक्षिक मूल्यांकन तीन हिस्सों में किया जाएगा। इसमें त्रैमासिक, अर्धवार्षिक और वार्षिक आधार पर अंक दिए जाएंगे। इसके बाद ही कुल अंकों का योग होगा।