प्रधानाध्यापक समेत पूरे स्टाफ का रोका वेतन, बीएसए ने किया पांच विद्यालयों का निरीक्षण


गोरखपुर। बेसिक शिक्षा विभाग की ओर से परिषदीय विद्यालयों में शिक्षकों की उपस्थिति को लेकर औचक निरीक्षण का सिलसिला जारी है।

सोमवार को बीएसए बीएन सिंह ने पांच विद्यालयों का निरीक्षण किया। जहां तीन प्रधानाध्यापक, नौ सहायक अध्यापक समेत पांच शिक्षामित्र बिना सूचना के गायब मिले। इस पर बीएसए ने सभी लोगों का जुलाई का वेतन रोक दिया।

निरीक्षण के दौरान पिपराइच ब्लॉक का प्रावि अगया व कंपोजिट विद्यालय सिधावन क्रमशः सुबह 8.41 व 9.16 पर बंद मिले। जिस पर बीएसए ने प्रधानाध्यापक नमिता उपाध्याय, शिक्षक प्रीति सिंह, शिक्षामित्र पुष्पा सिंह, इंद्रावती गुप्ता व मो. सैन आजम तथा सिधावन में प्रधानाध्यापक चंद्र प्रकाश, शिक्षक मेनका मल्ल, संजय कुमार , श्रीवास्तव, सीमा कुमारी, किरन सिंह, वीरेंद्र कुमार यादव, शिक्षामित्र कालिंदी सिंह के विरुद्ध कार्रवाई करते हुए बीएसए ने जुलाई का वेतन रोकते हुए स्पष्टीकरण तलब किया। तत्काल

बीएसए सबसे पहले पिपराइच ब्लॉक के कंपोजिट विद्यालय उसका पहुंचे जहां शिक्षक प्रमोद कुमार सिंह, राजू प्रसाद व शिक्षामित्र राम प्रकाश सिंह बिना किसी सूचना के अनुपस्थित मिले।

इसी प्रकार भटहट ब्लॉक के प्रावि चिउटहा में शिक्षक पूजा अग्रहरि तथा पूमावि बजहा में इंचार्ज प्रधानाध्यापक इजबैला बेंजामिन और शिक्षक शांति शुक्ला बिना सूचना के अनुपस्थित मिलीं। इन सभी के विरुद्ध अनुपस्थित दिन के वेतन कटौती की कार्रवाई की गई।