शिक्षकों ने लगाया आर्थिक शोषण का आरोप

लखनऊ : स्ववित्तपोषित पाठ्यक्रमों में पढ़ाने वाले अनुबंधित शिक्षकों ने लखनऊ विश्वविद्यालय पर मानसिक और आíथक शोषण का आरोप लगाया है। आरोप है कि स्ववित्तपोषित कोर्सो में नियमित शिक्षकों की जगह अनुबंधित शिक्षकों से पठन-पाठन कराया जा रहा है, लेकिन उनका शोषण हो रहा है।


शनिवार को शिक्षकों ने कुलाधिपति को ज्ञापन भेजकर कार्रवाई की मांग की। शिक्षकों का कहना है कि लविवि में हर पांच साल पर शिक्षकों का स्वत: नवीनीकरण होने का नियम है, लेकिन विश्वविद्यालय मनमाने तरीके से फिर से उनका साक्षात्कार कराकर नवीनीकरण के लिए अनुचित दबाव बना रहा है।

हास्टल खोलने की मांग : लखनऊ विश्वविद्यालय के होमी जहांगीर भाभा विधि छात्रवास के विद्याíथयों ने हास्टल खोलने की मांग की है। इस संबंध में विश्वविद्यालय के ट्विटर अकाउंट पर ज्ञापन टैग किया है। छात्रों का कहना है कि 26 जुलाई से एलएलबी अंतिम सेमेस्टर की परीक्षाएं शुरू होनी हैं। कोविड की वजह से सभी छात्र घर पर ही हैं। नोट्स, किताबें छात्रवास में ही होने की वजह से पढ़ाई नहीं हो पा रही है। विधि तृतीय वर्ष के छात्रों को केस डायरी भी बनानी है जो कि अंतिम सेमेस्टर की परीक्षा में अनिवार्य है। वह भी घर पर नहीं बन पा रही। इसलिए हास्टल खोला जाए।