पोर्टल पर फीडिंग गुरु जी के लिए सिरदर्द, डेटा से मिलान न होने पर कठिनाई


प्रयागराज : बेसिक शिक्षा विभाग की कार्यप्रणाली ने प्रधानाध्यापकों की मुश्किलें बढ़ा दी है। बिना संसाधन उपलब्ध कराए प्रेरणा पोर्टल पर डेटा फीडिंग के निर्देश दिए गए हैं। इसके लिए टैबलेट, कंप्यूटर, डाटा आदि मुहैया कराने के लिए कोई कदम नहीं उठाया जा रहा है। इससे शिक्षकों में असंतोष है। शिक्षक संगठनों का कहना है कि तकनीकी रूप से जानकार लोगों की मदद ली जाए।


प्राथमिक शिक्षक प्रशिक्षित स्नातक एसोसिएशन के महामंत्री अजय सिंह ने बताया कि फीडिंग, ट्रेनिंग सहित सभी विभागीय कार्य डिजिटल हो रहे हैं। प्रधानाध्यापकों को इस संबंध में कोई भी संसाधन उपलब्ध नहीं कराया गया है। जो भी कार्य हो रहा है शिक्षक अपने स्तर से करने को विवश हैं।

प्रेरणा पोर्टल पर किए जाने वाले कार्य : शिक्षक नेता ब्रजेंद्र सिंह ने बताया कि शासन के निर्देश के अनुसार प्रेरणा पोर्टल पर विद्यार्थियों का पूरा विवरण अपलोड होना है। ई पाठशाला की सामग्री पोर्टल से निकालकर अलग अलग ग्रुपों में प्रतिदिन पोस्ट करने जैसे कार्य किए जाने हैं।


डेटा से मिलान न होने पर कठिनाई

शिक्षकों का कहना है कि आनलाइन फीडिंग के लिए फोन, नेटवर्क, डेटा व पर्याप्त समय चाहिए। इसके अतिरिक्त छात्रों का रिकार्ड सत्य होना चाहिए। इससे पहले जो विवरण विद्यालय में हैं उसे फीड डेटा से मैच करना चाहिए। यदि वह मेल नहीं खाएगा तो डाटा अपलोड नहीं होगा।