मोबाइल पर परीक्षा, घर बनेगा सेंटर: आनलाइन होंगी पालीटेक्निक की सेमेस्टर परीक्षाएं

यदि आप पालीटेक्निक की पढ़ाई कर रहे हैं और परीक्षा केंद्र को लेकर परेशान हैं तो आपके लिए अच्छी खबर है। आपका घर ही परीक्षा केंद्र होगा और मोबाइल फोन या लैपटाप कापी और प्रश्नपत्र। आप आश्चर्यचकित तो नहीं गए, लेकिन यह सच है।


कोरोना संक्रमण के चलते पहली बार पालीटेक्निक की सेमेस्टर परीक्षाएं आनलाइन कराने की तैयारियां शुरू हो गई हैं। संस्थानों में कंप्यूटर की कमी के चलते प्राविधिक शिक्षा परिषद घर पर ही मोबाइल फोन व लैपटाप से परीक्षा कराने पर मंथन कर रहा है। 21 जुलाई से परीक्षाएं प्रस्तावित हैं। कोरोना काल में पहली बार बहुविकल्पीय प्रश्न पूछे जाएंगे। 21 जुलाई को प्रदेश की सभी 150 सरकारी, 19 अनुदानित और 1,202 निजी पालीटेक्निक में संचालित पाठ्यक्रमों के अंतिम सेमेस्टर की परीक्षाएं शुरू होंगी। परीक्षाएं आनलाइन के साथ बहुविकल्पीय होंगी। प्राविधिक शिक्षा सचिव आलोक कुमार ने अंतिम सेमेस्टर की सभी विषयों की परीक्षाएं 25 जुलाई और द्वितीय व चतुर्थ सेमेस्टर की परीक्षाएं 26 जुलाई से कराने के निर्देश दिए हैं। सभी परीक्षाएं 31 जुलाई तक समाप्त होंगी। सभी प्रधानाचार्यो को निर्देश दिया गया है कि वे सेमेस्टर परीक्षाओं का कोर्स 20 जुलाई तक हर हाल में पूरा करा लें।

नकल रोकने की चुनौती : मोबाइल फोन पर परीक्षा कराने के निर्णय के साथ ही नकल रोकने की चुनौती भी परिषद के सामने होगी। नकल रोकने या विद्यार्थी पास बैठकर पेपर हल कराने वाले को कैसे रोका जाएगा, इसे लेकर भी मंथन चल रहा है।

’>>पहली बार आनलाइन होंगी पालीटेक्निक की सेमेस्टर परीक्षाएं

पालीटेक्निक पर एक नजर

ल्लसरकारी संस्थान-150

ल्लसहायता प्राप्त संस्थान-19

ल्लनिजी संस्थान-1202

ल्लकुल विद्यार्थी-2.10 लाख

कोरोना संक्रमण से विद्यार्थियों को सुरक्षित करने के लिए मोबाइल फोन या लैपटाप पर प्रश्नपत्र व उत्तर पुस्तिका भेजी जाएंगी। बहुविकल्पीय प्रश्न पूछे जाएंगे। हालांकि, अभी उच्च अधिकारियों के निर्णय के बाद ही इस प्रक्रिया को लागू किया जाएगा। साफ्टवेयर के माध्यम से नकल रोकने को लेकर विशेषज्ञों से चर्चा चल रही है।

सुनील कुमार सोनकर, सचिव, प्राविधिक शिक्षा परिषद