गैरहाजिर शिक्षकों को प्रतिकूल प्रविष्टि, मनमानी बरतने वाले शिक्षकों पर बीएसए ने की कार्रवाई


गोण्डा:- लम्बे समय ये स्कूल से नदारद चल रहे। शिक्षकों पर कड़ी कार्रवाई हुई है। ऐसे दर्जन भर शिक्षकों के सर्विस बुक में बैड इण्ट्री दी जाएगी। जिसका असर आने वर्षों में प्रमोशन में बाधा के रूप में देखा जाएगा। मनमानी बरतने वाले शिक्षकों का बीएसए विनय मोहन वन ने कड़ी कार्रवाई की है।


खण्ड शिक्षा अधिकारियों के रिपोर्ट को आधार बनाते हुए आधा दर्जन शिक्षकों का वेतन पर रोक लगा दी गई है। मनमानी बरतने वाले ऐसे दर्जन भर शिक्षकों को कारण बताओ नोटिस दी जा रही है। सही जवाब नहीं मिलने पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी। बीएसए ने बताया कि बीईओ आनन्द प्रकाश सिंह के निरीक्षण में कई शिक्षक गैर हाजिर पाए गए थे। वहीं कई जगह कायाकल्प योजना में अनियमितता का मामला सामने आया था ऐसे में इन मनमाने शिक्षकों पर कड़ी कार्रवाई की गई है।

विभागीय गाइडलाइन का अनुपालन नहीं करने वालों पर होगी कार्रवाई विभागीय गाइडलाइन का पालन नहीं करने वालों पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी। शिक्षण कार्य को प्राथमिकता के आधार पर आगे ले जाना हर एक शिक्षक के लिए जरूरी किया गया है। मिशन प्रेरणा के तहत आवंटित कार्यों को समयबद्ध ढंग से पूरा कराया जाना जरुरी है। विभागीय नियमों की अनदेखी पर कार्रवाई करने की चेतावनी दी गई है। बताया जा रह है कि जिले के स्कूलों में शिक्षकों की खूब गैरहाजिरी हो रही है। ऐसे में शिक्षकों की रोजाना उपस्थिति सुनिश्चित करने में विभागीय अधिकारी जुटे हुए हैं। बीएसए ने जांच च निरीक्षण बढ़ाने के निर्देश दिए हैं। विभाग के इस निर्णय से स्कूलों से गायब रहने वाले शिक्षकों के बीच खलबली का है। लोग अपने-अपने सूत्रों से गुणा गणित कौ सेटिंग में एक बार फिर जुट गए हैं।


स्कूल छोड़कर गायब रहने वाले शिक्षकों को चेतावनी दी गई थी। फिर भी सुधार नहीं देखा गया अब ऐसे शिक्षकों के सर्विस बुक में बैड इण्ट्री दी जाएगी। इसकी कार्यवाही शुरू की गई है।
विनय मोहन वन, बीएसए