विशेष नोट व स्पष्टीकरण:-👉 Updatemarts.com नाम से मिलती-जुलती वेबसाइट से सावधान रहें, ये सभी नकली हैं, 🙏वेबसाइट प्रयोग करते समय Updatemarts के आगे डॉट .com अवश्य चेक कर लें, धन्यवाद

वाह री बेरोजगारी, बेटियों की रात भारी: नौकरी की मांग को लेकर 2 दिन से पानी की टंकी पर चढ़े 69000 शिक्षक भर्ती के अभ्यर्थी

रात करीब 11 बजे थे, बारिश के बीच पानी की टंकी पर चढ़ी शिखा पाल रोते हुए कहती जा रही थी कि हम बेटियां हैं, उपद्रवी नहीं। टंकी के ठीक नीचे झाड़ियों के बीच लेटी निधि तिवारी और रेखा त्यागी ने कहा कि हम महज मांग कर रहे हैं, कोई नुकसान नहीं। हम लड़कियां हैं, प्राकृतिक क्रिया को रोका नहीं जा सकता। कम से कम उस पर तो पाबंदी न लगाएं। यह दर्द है उन अभ्यर्थियों में शामिल बेटियों का जो राज्य शैक्षिक अनुसंधान एवं प्रशिक्षण परिषद (एससीईआरटी) कार्यालय में अपनी मांगों को लेकर पानी की टंकी पर दो दिन और दो रात गुजार चुकी हैं। सुनकर हैरानी हो रही होगी, मगर यह हकीकत है।

परिषदीय प्राथमिक विद्यालयों में 69 हजार सहायक अध्यापक भर्ती प्रक्रिया में 22 हजार रिक्तियों को जुड़वा कर नौकरी की मांग को लेकर अभ्यर्थी पिछले 50 दिनों से ईको गार्डन में आंदोलनरत हैं। मगर बुधवार को अभ्यर्थियों ने एससीईआरटी स्थित कार्यालय का रुख किया। अभ्यर्थियों ने पास स्थित पानी की टंकी के पास प्रदर्शन शुरू किया। मांग को लेकर महिला अभ्यर्थियों ने पानी की टंकी पर चढ़कर प्रदर्शन शुरू कर दिया। गुरुवार को उन्हें वहां बैठे दो दिन हो गए। नित्यक्रिया के लिए उन्हें नीचे न आना पड़े, इस खातिर उन्होंने खाना छोड़ रखा है। टंकी पर चढ़ने का रास्ता भी इतना संकरा है कि एक साथ दो व्यक्ति नहीं चढ़ सकते। सामथ्र्य बनी रहे इसलिए अन्य आंदोलनकारी रस्सी-डोरी के सहारे चाय और बिस्कुट पहुंचा रहे हैं। पानी की टंकी के बगल ही एससीईआरटी की ब्रेल प्रेस और छात्रवास में शौचालय है, मगर उसके इस्तेमाल से रोक दिया गया। इसके लिए पुलिस ने छात्रवास में ही डेरा डाल रखा है। ऐसे में खुले में नित्यक्रिया से निवृत होना उनकी मजबूरी है।


हक की बात: 69 हजार शिक्षक भर्ती के अभ्यर्थियों का प्रदर्शन तेज हो गया है। लगातार मांगें अनसुनी किए जाने से नाराज अभ्यर्थियों ने बुधवार से निशातगंज शिक्षा निदेशालय परिसर में पानी की टंकी पर कब्जा जमाकर प्रदर्शन शुरू किया। गुरुवार को भी खुद सहित साथियों के हक के लिए आवाज बुलंद किए टंकी पर बैठीं कानपुर की निधि तिवारी के मोबाइल फोन पर घंटी बजी तो उन्होंने घरवालों से दो टूक कहा कि सफल होकर भी बेरोजगार रहना बर्दाश्त नहीं है, वो अपने हकूक के लिए अंतिम सांस तक संघर्ष करेंगी ’ रंगनाथ तिवारी


निशातगंज शिक्षा निदेशालय परिसर में अपनी मांगों को लेकर प्रदर्शन कर रहे 69 हजार भर्ती के अभ्यर्थी रात में टंकी के नीचे सोते हुए 


अपनी मांगों को लेकर निशातगंज शिक्षा निदेशालय परिसर में गुरुवार को भी पानी टंकी पर डटे रहे 69 हजार भर्ती के अभ्यर्थी

primary ka master