विशेष नोट व स्पष्टीकरण:-👉 Updatemarts.com नाम से मिलती-जुलती वेबसाइट से सावधान रहें, ये सभी नकली हैं, 🙏वेबसाइट प्रयोग करते समय Updatemarts के आगे डॉट .com अवश्य चेक कर लें, धन्यवाद

स्कूलों में शिक्षा से वंचित बच्चों का नामांकन कराएगी ‘शारदा’, उम्र के अनुसार बच्चों का स्कूलों में दाखिला दिलाएंगे शिक्षक

गोरखपुर: जनपद में शिक्षा से वंचित (आउट आफ स्कूल) बच्चों को चिह्नित कर परिषदीय विद्यालयों में उम्र के हिसाब से उन्हें दाखिला दिलाया जाएगा। इसके लिए शारदा हर दिन स्कूल आएं अभियान चलेगा। चिह्नित बच्चों को किस स्कूल में कौन सी कक्षा में दाखिला कराया गया है, इसका रिकार्ड शारदा पोर्टल पर अपलोड करना होगा। अभियान के तहत उम्र के हिसाब से कक्षाओं में दाखिला दिलाया जाएगा। यदि बच्चा दस साल का है और उसका कभी स्कूल में दाखिला नहीं हुआ। ऐसी स्थिति में भी उसे उम्र के हिसाब से कक्षा पांच में प्रवेश दिया जाएगा।


शैक्षिक सत्र 2021-22 में आउट आफ स्कूल बच्चों के चिह्नांकन, पंजीकरण एवं नामांकन संबंधी जारी आदेश के तहत आउट आफ स्कूल में 5 से 14 वर्ष के बच्चों का चिह्नांकन किया जाएगा। दूसरे चरण में ईंट-भट्टे, खदान में काम करने वालों के बच्चे शामिल होंगे। वहीं आंगनबाड़ी आने वाले वे बच्चे जिनकी आयु एक जुलाई 2021 को पांच वर्ष हो गई हो उनका अनिवार्य रूप से प्राथमिक स्कूल की कक्षा एक में नामांकन कराया जाएगा।

प्रत्येक जनपद के लिए आउट आफ स्कूल बच्चों को स्कूल पहुंचाने के लिए अलग-अलग लक्ष्य दिए गए हैं।

दो चरणों में चलेगा अभियान

शारदा अभियान दो चरणों में चलेगा। पहला चरण 10 सितंबर से 15 अक्टूबर तक तथा दूसरा चरण 15 से 31 नवंबर तक चलेगा। इस दौरान अमान्य विद्यालयों में शिक्षा ग्रहण कर रहे बच्चों को प्रोत्साहित कर परिषदीय विद्यालयों में नामांकन कराया जाएगा। संबंधित अमान्य विद्यालय के विरुद्ध कार्रवाई की जाएगी।

10779 बच्चों के चिह्नांकन व नामांकन का लक्ष्य

शासन ने जनपद में शैक्षिक सत्र 2021-22 में आउट आफ स्कूल बच्चों के चिह्नांकन, पंजीकरण एवं नामांकन के लिए 10779 का लक्ष्य रखा है। इनमें पांच से छह वर्ष के 1448, सात से आठ वर्ष के 6922 तथा 11 से 14 वर्ष के बच्चों की संख्या 2409 निर्धारित है।

शासन ने आउट आफ स्कूल बच्चों को चिह्नित कर परिषदीय स्कूलों में नामांकन कराने का निर्देश दिया है। शारदा हर दिन स्कूल आएं के नाम से यह अभियान दो चरणों में चलेगा। नामांकन के लिए मिले लक्ष्य को पूर्ण करने की कोशिश की जाएगी।

-आरके सिंह, बीएसए

primary ka master