विशेष नोट व स्पष्टीकरण:-👉 Updatemarts.com नाम से मिलती-जुलती वेबसाइट से सावधान रहें, ये सभी नकली हैं, 🙏वेबसाइट प्रयोग करते समय Updatemarts के आगे डॉट .com अवश्य चेक कर लें, धन्यवाद

एलटी शिक्षक-भर्ती 2018 चयनितों को संस्तुति की जानकारी देकर आयोग ने लगाया पूर्णविराम

प्रयागराज: उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग की एलटी-2018 की परीक्षा में चयनित होकर भी अंग्रेजी भाषा के अभ्यर्थी नियुक्ति नहीं पा रहे हैं। चयनित होने के बाद वह कालेज आवंटन की मांग को लेकर माध्यमिक शिक्षा निदेशालय (राजकीय) पहुंचे तो नियमावली में अंग्रेजी भाषा न होने की बात कहकर लौटा दिया गया। वो फिर लोक सेवा आयोग पहुंचे तो परीक्षा नियंत्रक ने अब लिखित रूप से उन्हें अवगत करा दिया कि वह चयनित कर अपनी संस्तुति 25 मई को ही शिक्षा निदेशालय भेज चुके हैं। अब आगे की कार्यवाही निदेशालय को करनी है। ऐसे में आयोग इस संबंध में अब कोई पत्र व्यवहार स्वीकार नहीं करेगा।


अंग्रेजी भाषा विषय के करीब 22 अभ्यर्थी लोक सेवा आयोग से चयनित होने के बावजूद नियुक्ति पाने के लिए भटक रहे हैं, जबकि इस भर्ती के अन्य विषयों के चयनितों को नियुक्ति मिल चुकी है। अंग्रेजी भाषा के चयनित गजेंद्र प्रताप सिंह बुंदेला ने बताया कि भर्ती विज्ञापन में अंग्रेजी साहित्य विषय या उसके समकक्ष लिखा गया था। अंग्रेजी भाषा के अंग्रेजी साहित्य के समकक्ष विषय होने की बात इवि भी लिखित रूप से दे चुका है, जिसे लोक सेवा आयोग में दाखिल किया गया। इसे आधार मानकर लोक सेवा आयोग ने अपनी समिति के अनुमोदन पर अंग्रेजी भाषा के अभ्यर्थियों का चयन कर संस्तुति माध्यमिक शिक्षा निदेशालय (राजकीय) को भेज दी। शिक्षा निदेशालय नियमावली में यह विषय न होने की बात कहकर नियुक्ति देने से इन्कार कर रहा है। अभ्यर्थियों के दुबारा शिकायत पर परीक्षा नियंत्रक अर¨वद कुमार मिश्र ने चयनित सात अभ्यर्थियों झांसी के गुरसराय निवासी गजेंद्र प्रताप सिंह बुंदेला, फिरोजाबाद की अनीता सिंह, रायबरेली की मोनिका सिंह, कौशांबी की पूनम के साथ प्रयागराज की वत्सला जायसवाल, सुमन और रीतू विश्वकर्मा को पत्र लिखा है। कहा है कि अब आगे की कार्यवाही निदेशालय को करनी है।

एलटी-2018 में चयन कर माध्यमिक शिक्षा निदेशालय को भेज चुके पत्रवली, निदेशालय को लेना है आगे की कार्यवाही पर फैसला

primary ka master