विशेष नोट व स्पष्टीकरण:-👉 Updatemarts.com नाम से मिलती-जुलती वेबसाइट से सावधान रहें, ये सभी नकली हैं, 🙏वेबसाइट प्रयोग करते समय Updatemarts के आगे डॉट .com अवश्य चेक कर लें, धन्यवाद

स्कूल एक, उपस्थिति पंजिका दो:- जांच में खुली अव्यवस्था की पोल

गोरखपुर : विद्यालयों में शैक्षिक व्यवस्था को बेहतर बनाने के लिए डीआइओएस ने शनिवार को भूमिधर इंटर कालेज सिकरीगंज का निरीक्षण किया। यहां दो उपस्थिति पंजिकाएं मिलीं। 13 शिक्षक-कर्मचारी गैरहाजिर मिले। इनके विरुद्ध डीआइओएस ने कार्रवाई करते हुए तीन शिक्षकों को विशेष प्रतिकूल प्रविष्टि व अन्य का अगले आदेश तक वेतन रोकने का निर्देश दिया।


विद्यालय पहुंच कर डीआइओएस ज्ञानेंद्र प्रताप सिंह भदौरिया ने सबसे पहले उपस्थिति पंजिका मंगाई। प्रधानाचार्य सतीश चंद्र भारती ने बताया कि विद्यालय में वर्तमान में दो उपस्थिति पंजिकाएं बनाई गई हैं। यह सुनकर डीआइओएस हैरत में पड़ गए। प्रधानाचार्य ने बताया कि अर्थशास्त्र के प्रवक्ता अर¨वद कुमार यादव ने अलग से उपस्थिति पंजिका बनाई है। निरीक्षण के दौरान वे गैरहाजिर मिले। अर¨वद कुमार यादव कालेज में प्रवक्ता हैं जबकि उपस्थिति पंजिका में उनके नाम के आगे उप प्रधानाचार्य लिखा गया है। जनपद में किसी भी अशासकीय सहायता प्राप्त माध्यमिक विद्यालय में उप प्रधानाचार्य का पद सृजित नहीं है। शिक्षकों ने डीआइओएस को बताया कि वे प्रधानाचार्य द्वारा बनाई गई उपस्थिति पंजिका पर हस्ताक्षर करना चाहते हैं, लेकिन अर¨वद कुमार यादव हस्ताक्षर करने पर प्रबंधक द्वारा कार्रवाई कराने की धमकी देते हैं। डीआइओएस ने नई उपस्थिति पंजिका का निरीक्षण किया तो अर¨वद कुमार के अलावा संतोष कुमार श्रीवास्तव, डा.राकेश कुमार श्रीवास्तव, पंकज कुमार श्रीवास्तव, अमित कुमार, शिवाकांत शरण मिश्र, प्रियंका राय, राजेश कुमार यादव, श्रीराम अनुपस्थिति मिले। रुद्र कुमार ओझा शिक्षण कार्य कर रहे थे, लेकिन उन्होंने हस्ताक्षर नहीं किया था। हरिश्चंद्र एवं शंकर परिचायक भी अनुपस्थित मिले। परिचायक बृजराज मौजूद थे, लेकिन उन्होंने भी हस्ताक्षर नहीं बनाया था। परिचायक धर्मेंद्र सिंह भी अनुपस्थित मिले। डीआइओएस ने सभी कक्षाओं की उपस्थिति पंजिका का अवलोकन किया। किसी भी कक्षाध्यापक ने सितंबर में किसी भी छात्र-छात्र की उपस्थिति दर्ज नहीं की थी। विद्यालय में अधिकांश कक्षाएं मानदेय पर रखे शिक्षक ले रहे थे। जबकि संस्था में 20 शिक्षक उप्र माध्यमिक शिक्षा सेवा चयन बोर्ड से चयनित हैं और राजकोष से वेतन ले रहे हैं। डीआइओएस ने प्रबंधक व प्रधानाचार्य से दोनों शिक्षकों को प्रतिकूल प्रविष्टि देने को कहा।

डीआइओएस ने प्रधानाचार्य से पूछा कि अनुशासनहीन शिक्षकों एवं कर्मचारियों के विरुद्ध उनके स्तर पर क्या कार्रवाई हुई है। अर¨वद कुमार यादव प्रवक्ता को निरीक्षण के समय विद्यालय में उपस्थित होकर अनुशासनहीनता पर विशेष प्रतिकूल प्रविष्टि दिए जाने का निर्देश दिया। अलग उपस्थिति पंजिका बनाकर बिना प्रधानाचार्य की अनुमति एवं बिना प्रमाणित उपस्थिति पंजिका पर हस्ताक्षर बनाने वालों का उस अवधि का वेतन प्रबंध तंत्र अपने निजी स्नोतों से वहन करेगा। डीआइओएस ने कहा कि प्रधानाचार्य द्वारा प्रमाणित उपस्थिति पंजिका ही मान्य होगी।

निरीक्षण

’>>डीआइओएस की जांच में खुली अव्यवस्था की पोल

’>>13 शिक्षक-कर्मचारी अनुपस्थित वेतन रोकने के निर्देश

primary ka master