विशेष नोट व स्पष्टीकरण:-👉 Updatemarts.com नाम से मिलती-जुलती वेबसाइट से सावधान रहें, ये सभी नकली हैं, 🙏वेबसाइट प्रयोग करते समय Updatemarts के आगे डॉट .com अवश्य चेक कर लें, धन्यवाद

परिषदीय शिक्षकों ने स्कूल में अभिभावकों को बुलवाकर करवाया हंगामा,जाँच के बाद पूरा स्कूल सस्पेंड, जानिए पूरा मामला

जिन शिक्षकों को मर्यादा का पाठ पढ़ाना चाहिए वे खुद गुटबाजी और राजनीति में संलिप्त मिले। आपसी राजनीति यहां तक पहुंची कि अभिभावकों को बुलाकर साथी शिक्षकों के दूसरे गुट के खिलाफ हंगामा तक करवा दिया। जांच में सत्यता मिलने पर बीएसए ने प्रधानाध्यापिका समेत पूरे स्कूल के शिक्षकों को सस्पेंड कर दिया। भोगांव बीआरसी परिसर में संचालित कंपोजिट विद्यालय स्कूल में ये मामला सामने आया है।



बीएसए कमल सिंह ने बताया कि 3 सितंबर और 4 सितंबर को शिकायत मिली कि कंपोजिट विद्यालय भोगांव सुल्तानगंज का समस्त स्टाफ आए दिन आपस में झगड़ा करता है। एक-दूसरे से गाली गलौज की जाती है और एससीएसटी एक्ट लगाने की धमकी दी जाती है। 3 सितंबर को अभिषेक गुप्ता और मीना सिंह के बीच विवाद हुआ, इस दौरान अभिभावकों और बच्चों को भी स्कूल में बुलाकर हंगामा कराया गया। ये जानकारी मिलने पर बीएसए खुद स्कूल पहुंचे तो उनके सामने भी शिक्षक-शिक्षिकाएं, स्कूल के बच्चों और अभिभावकों को बुलाकर एक-दूसरे के खिलाफ हंगामा कराते रहे। इस अमर्यादित आचरण पर बीएसए ने खंड शिक्षाधिकारी से रिपोर्ट मांगी और पूरे स्कूल को सस्पेंड कर दिया गया।

एबीएसए ने विवाद की दी रिपोर्ट 
खंड शिक्षाधिकारी ने दी रिपोर्ट में बताया कि 4 सितंबर को सहायक अध्यापिका प्रीती कुमारी, सहायक अध्यापक रोहित कुमार, सहायक अध्यापक अभिषेक कुमार ने स्कूल में फिर से विवाद किया। इसका वीडियो भी बनाया गया। बीआरसी में काम कर रहे कार्यालय के सहायक, कंप्यूटर ऑपरेटर, सहायक लेखाकार ने इन शिक्षकों का हंगामा देखा और उच्चाधिकारियों को जानकारी दी। बीएसए ने विभाग की छवि खराब करके अनुशासनहीनता कर रहे विद्यालय के सभी 8 शिक्षक-शिक्षिकाओं को सस्पेंड कर दिया है और इन्हें सुल्तानगंज ब्लाक के विभिन्न स्कूलों में संबद्ध किया गया है। 8 खंड शिक्षाधिकारियों को इन शिक्षकों की जांच के लिए लगाया गया है। एक साथ 8 शिक्षकों पर निलंबन की कार्रवाई से शिक्षा विभाग में हड़कंप मचा हुआ है। 

बीएसए कमल सिंह ने बताया, स्कूल के बारे में स्टाफ की शिकायत मिली थी। मेरे वहां पहुंचने पर भी शिक्षक-शिक्षिकाएं नहीं माने और अमर्यादित आचरण करते रहे। अगले दिन फिर विवाद किया गया। मामले में जांच कराई गई। इसके बाद ये सख्त कदम उठाया गया। सभी आठ शिक्षक-शिक्षिकाओं को निलंबित करते हुए आठ खंड शिक्षाधिकारियों को जांच सौंपी गई। जांच रिपोर्ट मिलने के बाद कड़ी कार्रवाई की जाएगी।


ये शिक्षक किए गए हैं सस्पेंड
मीना सिंह इंचार्ज प्रधानाध्य्यापिका 
शिखा दुबे सहायक अध्यापिका
कहकशा जमा सहायक अध्यापिका
अभिषेक कुमार सहायक अध्यापक
रोहित कुमार सहायक अध्यापक
कमल कुमार पांडेय सहायक अध्यापक
प्रतिभा व्यास सहायक अध्यापिका
प्रीती कुमारी सहायक अध्यापिका

primary ka master