विशेष नोट व स्पष्टीकरण:-👉 Updatemarts.com नाम से मिलती-जुलती वेबसाइट से सावधान रहें, ये सभी नकली हैं, 🙏वेबसाइट प्रयोग करते समय Updatemarts के आगे डॉट .com अवश्य चेक कर लें, धन्यवाद

परिषदीय स्कूल के निरीक्षण के दौरान मास्टर बनकर डीएम ने लिया बच्चों को पढ़ाया, शिक्षक रहे बेचैन , पढ़ें पूरी खबर

पीलीभीत: आईएएस पुलकित खरे ने डीएम बन कर नहीं बल्कि एक साधारण शिक्षक की तरह बच्चों के क्लास रूम में जाकर उनके मन की बात की जाना। बच्चों के बीच बैठ कर बच्चों से बातें कीं, साथ ही ब्लैक बोर्ड पर सवाल देकर बच्चों से हल कराए। एक छात्रा से बीज गणित के सवाल को चुटकी में हल किया तो ताली बजा कर शाबाशी दी। डीएम के इस अंदाज की प्रशंसा हो रही है। हालांकि शिक्षक बेचैन रहे।


मिशन कायाकल्प में औचक निरीक्षण करने निकले डीएम को तीन शहरी क्षेत्र के स्कूल बंद भी मिले। एक जगह कायाकल्प का काम बंद मिला। डीएम ने गांधी स्टेडियम रोड पर स्थित बीज गोदाम के सामने प्राथमिक, उच्चप्राथमिक, देशनगर, तखान व उच्च प्राथमिक विद्यालय चौकी मंशा सिंह आदि स्कूलों का औचक निरीक्षण किया। मंशा सिंह स्कूल में शिक्षिका मंजू सिंह व शिक्षामित्र आरती अवकाश पर थीं। देशनगर में कायाकल्प का काम बंद मिलने पर ईओ को निर्देशित किया। मंशा चौकी में हाथ धोने की व्यवस्था बेहतर न होने पर प्रधानाध्यापक से नाराजगी जताई। प्रत्येक बिंदु पर सवाल जवाब किए। डीएम के सवालों का रिया, मोनिका, मोहित गणित व उपासना, राय कुमार, कीर्ति ने सही जवाब दिया।

अल्मारी में न बंद रहे खेल सामाग्री

स्कूलों में बच्चों के लिए खेल सामाग्री आती है, पर अधिकांश स्कूलों में खेल सामाग्री अल्मारी में ही बंद रहती है, इस पर डीएम ने शिक्षकों को सख्त निर्देश दिए कि खेल सामग्री बच्चों के बीच शेयर की जाए, न कि अल्मारी में रखी रहे।

primary ka master