विशेष नोट व स्पष्टीकरण:-👉 Updatemarts.com नाम से मिलती-जुलती वेबसाइट से सावधान रहें, ये सभी नकली हैं, 🙏वेबसाइट प्रयोग करते समय Updatemarts के आगे डॉट .com अवश्य चेक कर लें, धन्यवाद

निरीक्षण में कहीं स्कूल बंद मिले तो कहीं मास्साब मिले गायब


उरई। बीएसए प्रेमचंद यादव ने गुरुवार को डकोर ब्लाक की बीआरसी, कस्तूरबा गांधी आवासीय विद्यालय समेत छह से अधिक स्कूलों का निरीक्षण किया। स्कूल बंद मिलने और गैरहाजिर मिलने वाले शिक्षकों का वेतन रोक दिया गया। जबकि अच्छा काम करने वाले शिक्षकों को पुरस्कृत भी किया गया।
बीएसए ने सबसे पहले डकोर ब्लाक के उच्च प्राथमिक विद्यालय उसरगांव का सुबह 8.45 बजे निरीक्षण किया गया। निरीक्षण के दौरान शिक्षिका विमला याज्ञिक, अर्चना कुलश्रेष्ठ, नीलम चौरसिया, देवेंद्र सिंह गैरहाजिर मिले। सभी शिक्षकों का वेतन रोककर स्पष्टीकरण मांगा गया है। इसके बाद बीएसए ने उच्च प्राथमिक विद्यालय बर्ध का 9.15 बजे निरीक्षण किया। निरीक्षण में शैक्षिक गुणवत्ता अच्छी मिलने पर प्रधानाध्यापक प्रवीण कुमार को प्रशस्तिपत्र दिया गया। जबकि गैरहाजिर हरीशंकर निरंजन व अनुदेशक नीलम निरंजन, लता आनंद, रिचा निरंजन के गैरहाजिर मिलने पर इनका वेतन रोका गया। साथ ही बीईओ डकोर को निर्देशित किया जाता कि विद्यालय का पाक्षिक निरीक्षण कर अनुदेशकों की उपस्थिति के संबंध में आख्या उपलब्ध कराए। ताकि लगातार अनुपस्थित अनुदेशकों की सेवा समाप्ति की कार्रवाई की सके। बीएसए ने उच्च प्राथमिक विद्यालय दौलतपुर में 10.30 बजे निरीक्षण किया, स्कूल बंद मिला। प्रधानाध्यापिका अलका निरंजन का वेतन रोककर स्पष्टीकरण मांगा गया। कन्या उच्च प्राथमिक विद्यालय हरदोई गूजर का 10.45 बजे निरीक्षण किया। शैक्षिक गुणवत्ता ठीक मिलने पर प्रधानाध्यापिका स्नेहलता तिवारी को प्रशस्तिपत्र दिया गया। कस्तूरबा गांधी आवासीय विद्यालय मड़ोरा में व्यवस्थाएं ठीक मिली। बीआरसी मड़ोरा में 10.55 बजे निरीक्षण में कंप्यूटर आपरेटर नरेंद्र नाथ प्रजापति, सहायक लेखाकार मोहम्मद गफ्फार, अनुचर कल्पना अग्रवाल गैरहाजिर मिली। सबका वेतन रोककर स्पष्टीकरण मांगा गया।