विशेष नोट व स्पष्टीकरण:-👉 Updatemarts.com नाम से मिलती-जुलती वेबसाइट से सावधान रहें, ये सभी नकली हैं, 🙏वेबसाइट प्रयोग करते समय Updatemarts के आगे डॉट .com अवश्य चेक कर लें, धन्यवाद

उपनिदेशक ने पूछा सवाल शिक्षिका को आया चक्कर, लखनऊ निदेशालय की टीम ने भटहट कस्तूरबा व अन्य स्कूलों का निरीक्षण किया

गोरखपुर

शासन के निर्देश पर परिषदीय स्कूलों के खुलते ही लखनऊ की टीम ने जिले का दौरा कर स्कूलों की जांच की। निदेशालय के उपनिदेशक बेसिक शिक्षा अशोक कुमार शुक्रवार को रामपुर बुजुर्ग, फुलवरियां के कस्तूरबा गांधी आवासीय बालिका विद्यालय, फुलवरियां के कंपोजिट विद्यालय के साथ ही भटहट में स्थित बीआरसी का निरीक्षण किया। इस दौरान अधिकारी के सवालों के जवाब देने में कुछ शिक्षक बगले झांकने लगे तो कई शिक्षकों के पसीने छूटने लगे। वहीं कस्तूरबा की छात्रों से जब अधिकारी ने सवाल पूछा तो सही जवाब मिलने पर उन्होंने छात्राओं को शाबाशी दी।

उपनिदेशक सुबह नौ बजे करीब क्षेत्र के फुलवरियां में स्थित कम्पोजिट परिषदीय विद्यायल का निरीक्षण करने पहुंचे। उन्होंने उपस्थित प्रधानाध्यापिका इंदू सिंह से स्कूल में नामांकित एवं उपस्थित बच्चों की संख्या पूछी तो वह तत्काल जबाब नहीं दे सकीं। कक्षावार नामांकन व उपस्थित संख्या अधिकारी को उपलब्ध कराने में उन्हें करीब दस मिनट का समय लगा प्राथमिक विद्यालय में नामांकित 224 बच्चों के सापेक्ष 50 बच्चे उपस्थित रहे। जबकि उच्च प्राथमिक विद्यालय में 204 के सापेक्ष 66 छात्र छात्राएं उपस्थित रहे। इसके बाद उपनिदेशक ने ई-पाठशाला के सम्बन्ध में जानकारी मांगी तो स्कूल की एक शिक्षिका को चक्कर आने लगा। आनन-फानन में अन्य शिक्षकों ने उन्हें बगल के कमरे में बैठाया। शिक्षकों की उपस्थिति के सम्बन्ध में पूछे जाने पर प्रधानाध्यापिका ने बताया कि उनके स्कूल में 13 शिक्षक- शिक्षिकाएं तैनात हैं। शिक्षिका नुपुरलता बिना किसी सूचना के एक अगस्त से अनुपस्थित हैं।


छात्राओं ने दिए सवालों के जवाब

उपनिदेशक कस्तूरबा गांधी आवासीय बालिका विद्यालय का निरीक्षण करने पहुंचे। उन्होंने वार्डेन रंजना द्विवेदी से छात्राओं की उपस्थिति समेत अन्य सवाल पूछे। जिस पर वार्डेन ने बताया कि सौ नामांकन के सापेक्ष 33 छात्राएं उपस्थित है। निरीक्षण के दौरान परिसर में स्थित खेल मैदान में पानी भरा पाया गया। छात्राओं के लिए कम्प्यूटर तो लगाया गया है, लेकिन इंटरनेट की व्यवस्था नहीं होने से कंप्यूटर नहीं चलता है। इसके बाद उपनिदेशक कक्षा आठ में पहुंचे जहां पढ़ाई चल रही थी। उन्होंने छात्राओं से पूछा कि भारत की राजधानी कहा है? सवाल पूछा तो छात्रा सुनैना ने सही जवाब दिया तो अधिकारी ने संतोष प्रकट किया।

उपस्थिति के साथ ही अन्य बिन्दुओं की जांच की
इसके पश्चात अधिकारी बीआरसी कार्यालय परिसर में स्थित प्राथमिक विद्यालय का निरीक्षण करते हुए प्रधानाध्यापिका अनुराधा जायसवाल से नामांकन एवं बच्चों की उपस्थिति के साथ ही अन्य बिन्दुओं की जांच की। इस दौरान बीईओ अमित कुमार चौहान, जिला समन्यवयक बालिका शिक्षा डॉ ज्ञान प्रकाश, जिला समन्वयक रमेशचंद आदि लोग मौजूद रहे।