शिक्षण कार्य में शिक्षकों की लापरवाही आई सामने , बीएसए ने शिक्षकों को 15 दिन में सुधार के दिए निर्देश

लखीमपुर खीरी। शहर से सटे गांव लाहौरीनगर में परिषदीय स्कूूल के बच्चों की शैक्षिक गुणवत्ता निम्न स्तर की पाए जाने पर बीएसए डॉ. लक्ष्मीकांत पांडेय ने स्टाफ को 15 दिन के अंदर सुधार करने के निर्देश दिए हैं।

बीएसए डॉ. लक्ष्मीकांत पांडेय ने बृहस्पतिवार को लखीमपुर व नकहा ब्लॉक के तीन स्कूलों का निरीक्षण किया। वह लखीमपुर ब्लॉक के प्राथमिक विद्यालय लाहौरीनगर में 12.40 बजे पहुंचे, जहां 139 छात्रों के सापेक्ष 101 छात्र उपस्थित मिले। बीएसए ने बच्चों से शैक्षिक संवाद किया, जिसमें एक-दो बच्चों को छोड़कर अन्य बच्चे सवालों का सही जवाब नहीं दे सके।

बीएसए ने बताया कि स्टाफ को 15 दिन का समय सुधार के लिए दिया गया है, इसके बाद दोबारा निरीक्षण करेंगे। बच्चों के शैक्षिक सुधार न होने पर समस्त स्टाफ का वेतन अग्रिम आदेश तक बाधित कर दिया जाएगा। इसके अलावा नकहा ब्लॉक के प्राथमिक विद्यालय भाऊपुर व उच्च प्राथमिक विद्यालय कटकुसमा का निरीक्षण किया।
विद्यालय परिसर में पंचायत भवन के निर्माण पर रिपोर्ट तलब
सदर ब्लॉक के प्राथमिक विद्यालय लाहौरीनगर के परिसर में पंचायत भवन का निर्माण कराया जा रहा है, जिस पर बीएसए ने प्रधानाध्यापक से जवाब मांगा है। बीएसए ने पूछा है कि विद्यालय परिसर में पंचायत भवन का निर्माण किस सत्र से प्रारंभ हुआ और किस बीईओ द्वारा निर्माण के लिए अनुमति दी गई। बीएसए ने सात दिन के अंदर रिपोर्ट मांगी है।