डीएलएड 2021 सत्र की 50 फीसदी सीटें खाली


प्रतापगढ़ | डिप्लोमा इन एलिमेंट्री एजुकेशन (डीएलएड) 2021 प्रवेश के तीसरे और अंतिम चरण के सीट आवंटन शुक्रवार को हो गया है। कुल 5500 सीटों के सापेक्ष 2225 सीटों पर ही अभ्यर्थियों ने प्रवेश लिया है। शेष आधे से अधिक 3275 सीटें खाली रह गई हैं। प्रशिक्षण 11

अक्टूबर से शुरु होना था। अधिकांश कालेजों में अभी प्रशिक्षण शुरु नहीं किया जा सका है। कोरोना के कारण 2020 सत्र शून्य होने के बावजूद युवाओं ने इस कोर्स में रूचि नहीं ली। कभी नौकरी की गारंटी माने जाने वाले डीएलएड ( पूर्व में बीटीसी) कोर्स को अधिकांश युवा करना नहीं चाहते। अंतिम चरण में डायट की 200 सीटों में 113 ही भरी जा सकी। विशेष आरक्षण की करीब 40 सीटें खाली रह गई है। पहले, दूसरे और तीसरे चरण को मिलाकर कुल 2225 सीटें आवंटित की गई। आनलाइन काउंसलिंग 22 सितंबर से शुरु हुई थी। शिक्षकों का कहना है कि डीएलएड के लिए शुरु से खास रूचि नहीं दिख रही थी। सीटों के सापेक्ष पर्याप्त संख्या में आवेदन न मिलने के कारण परीक्षा नियामक प्राधिकारी कार्यालय को तीन बार आवेदन की अंतिम तिथि बढ़ानी पड़ी थी।

डायट प्राचार्य मो. इब्राहिम ने बताया कि डीएलएड की पूरी सीटों को नहीं भरा जा सका है। डीएलएड कालेजों को एक अवसर मिलने की संभावना बताई जा रही है। जिससे सभी कालेजों की सीटों को भरा जा सके।