एलटी भर्ती: अभिलेख सत्यापन न कराने पर 28 चयन निरस्त, 14 नए चयनित, संस्कृत में छह, गणित में 22 अभ्यर्थियों को किया बाहर

 प्रयागराज : सहायक अध्यापक (प्रशिक्षित स्नातक श्रेणी) महिला शाखा परीक्षा-2018 के संस्कृत विषय में औपबंधिक रूप से चयनित छह अभ्यर्थियों व गणित विषय के 22 अभ्यर्थियों का औपबंधिक चयन उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग ने अभिलेख सत्यापन न कराने पर निरस्त कर दिया है। इनके स्थान पर दोनों विषयों में 14 अभ्यर्थियों को औपबंधिक रूप से सफल घोषित किया गया है। लोक सेवा आयोग के सचिव जगदीश के मुताबिक पुरुष/महिला शाखा परीक्षा के संस्कृत विषय में महिला शाखा के कुल 242 रिक्तियों के सापेक्ष औपबंधिक रूप से चयनित अभ्यर्थियों का परिणाम घोषित किए जाने के लिए 10 मई 2019 को एक निर्देश जारी किया था।


 कहा गया था कि प्रश्नगत चयन परिणाम में औपबंधिक रूप से सफल घोषित अभ्यर्थी अपनी उपश्रेणी के संबंध में भ्रामक सूचना देने/अभिलेख सत्यापन के लिए उपस्थित हों, लेकिन उपस्थित नहीं हुए। इस कारण इनका अभ्यर्थन निरस्त कर नियमानुसार श्रेष्ठताक्रम में छह नई अभ्यर्थी जयन्ती देवी, वन्दना यादव, विभा गुप्ता, पुष्पा यादव, निवेदिता तिवारी और नेहा चौधरी को सफल घोषित किया गया है। इसके अलावा प्रशिक्षित स्नातक श्रेणी में सहायक अध्यापक परीक्षा 2018 के गणित विषय पुरुष शाखा में 561 रिक्तियां घोषित की गई थीं, इसके सापेक्ष औपबंधिक रूप से सफल घोषित अभ्यर्थियों में से 22 ने अपनी उपश्रेणी के संबंध में उपस्थित होकर अभिलेख सत्यापित नहीं कराए, जिसके चलते इनका भी अभ्यर्थन निरस्त कर दिया गया। इनके स्थान पर श्रेष्ठताक्रम में दीपक कुमार गर्ग, शिवा कुमार, मो. शुएब, सुमित अग्रवाल, सचिन कुमार शर्मा, आनन्द मणि त्रिपाठी, मनोज कुमार और गौरव कुमार पांडेय को सफल घोषित किया गया है। आयोग द्वारा निर्धारित न्यूनतम मानक के अनुरूप अभ्यर्थी उपलब्ध न होने के कारण अन्य पिछड़ा वर्ग एवं अनुसूचित जाति की सात-सात रिक्तियां अधूरी रह गईं, जिन्हें पुनर्विज्ञापित करने का निर्णय लिया गया। न्यूनतम योग्यता का अभ्यर्थी न मिलने पर डीएफएफ श्रेणी के दो पद रिक्त रह गए।

संस्कृति विभाग में सहायक निदेशक का चयन प्रयागराज : आयोग की ओर से विज्ञापित संस्कृति विभाग उत्तर प्रदेश के अंतर्गत सहायक निदेशक (कलात्मक वस्तुएं) पद पर साक्षात्कार के माध्यम से विनय कुमार सिंह का चयन किया गया।